Author Mahesh Yadav

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

Millennium Prize Problems : आखिर क्यों होता हैं फोर टू का वन? दोस्तों, राम लखन मूवी का वह गाना तो सबको याद ही होगा, जिसमें अभिनेता अनिल कपूर गाता हैं वन टू का फोर, फोर टू का वन, लेकिन क्या आपने कभी इसी टाइटल से जुडी एक गणित की समस्या या सवाल के बारें में जाना हैं  जिसका हल अभी तक कोई भी नहीं बता पाया हैं कि फोर टू वन ही क्यों होता हैं? सन 2000 में बोस्टन के समीप स्थित Clay Mathematics Institute ने गणित के सात ऐसे महत्वपूर्ण सवालों की सूची जारी की थी, जो अब तक हल नहीं किये जा सके हैं इन्हें गणित की दुनिया के सात अजूबो के नाम से भी जाना जाता हैं, इसके साथ ही Institute ने इसमें से किसी भी सवाल को हल करने वाले व्यक्ति को 10 लाख US Dollar (6 करोड़ 50 लाख 85 हज़ार) का इनाम देने का भी ऐलान किया था। गणित के इन सात Classic अनसुलझे सवालों, जिनमें P versus NP Hodge conjecture Riemann hypothesis Yang–Mills existence and mass gap Navier–Stokes existence and smoothness Birch and Swinnerton-Dyer conjecture प्रॉब्लम शामिल हैं, सातवाँ सवाल जोकि Poincaré conjecture के नाम से जाना जाता था, का हल सन 2003…

Motivational Poem In Hindi, Koshish karne walo ki haar nahi hoti, Sohan lal dwivedi motivational hindi poem दोस्तों, निराशा में जिया जीवन निरर्थक हैं आखिर लोग निराश क्यों होते हैं? हार गए इसलिए? पैसा डूब गया? प्यार नहीं मिला? सफल नहीं हो पाएं? अगर इसमें से ही कोई कारण हैं तो निराश होने की कोई आवश्यकता ही नहीं हैं, बस अपने आप को दोबारा खड़ा करो, आत्मविश्वाश भरों और जीत लो संसार को, इतिहास गवाह हैं कुछ लोग मुश्किलों में टूट जाते हैं और कुछ रिकॉर्ड तोड़ देते हैं ये वो जिद्दी और हठी लोग होते हैं जिनके लिए असफलता का सामना और प्रयत्न कितनी बार किया हो और कितने समय से लगातार किया गया हो यह मायने नहीं रखता, मैंने ऐसे लोगो की कई Success Stories पब्लिश करी हैं, जो कि काफी प्रेरणादायी हैं इनमें से कुछ निम्न हैं Colonel Harland Sanders, KFC …मुझे 1009 बार रिजेक्ट कर दिया गया कंगाल होकर मैं कैसे जिन्दा रहूँगा : Motivational Hindi Story अब्राहम लिंकन का प्रेरणादायी जीवनी स्टीव जॉब्स की तीन कहानियाँ- जो बदल सकती हैं आपकी ज़िन्दगी M. C. Mary Kom (मैरी कॉम) : संक्षिप्त जीवन परिचय Google CEO SUNDAR PICHAI, जिन्होंने कड़ी मेहनत, लगन, परिश्रम और संघर्ष के साथ…

शिक्षाप्रद कहानी (moral stories in hindi), हिंदी कहानियाँ, Best Hindi Stories With Moral एक गावं की बात हैं, गावं वालो ने अपना मुखिया, एक विदेश से पढ़े हुए नौजवान “महेन्द्र सिंह” को बना दिया, ताकि गावं में वह विकास की रफ़्तार तेज कर सके। महेन्द्र भी अपने पुरे लगन, जोश और ज्ञान से लोगो की हर संभव मदद करता और गावं में कैसे विकास हो सकता हैं, उस बारें में लोगो को समझाता और लोग भी उसका साथ देते। बहुत कम समय में ही महेन्द्र ने गाव में काफी विकास करवा दिया, अब तो ऐसा हो गया कि लोगो सभी बातें महेन्द्र से पूछ-पूछ कर करते। सर्दी का मौसम आने वाला था, गावं वाले सोचने लगे कि “कैसी सर्दी पड़ेगी इस बार? इतने में, एक ने कहाँ क्यों न मुखिया जी से पूछ लिया जाए?” वो सब मिलकर मुखिया जी, महेन्द्र सिंह के पास पहुचे और पुछा “इस बार ठण्ड कैसी पड़ेगी, जरा बताओ, ताकि हम उस हिसाब से जलाने के लिए लकड़ियाँ एकत्रित कर सके।” जब जैसा कि महेन्द्र विदेश में ही पढ़ा था और वही काफी दिनों नौकरी करके वापस आया था और नई पीढ़ी का भी था इसलिए उसे मौसम के पारंपरिक तरीके से पूर्ण अनजान था।…

Chanda Kochhar Quotes in Hindi & Success Story, चंदा कोचर की जीवनी, Chanda Kochhar Biography In Hindi कहने को तो इस युग में स्त्री और पुरुषों को समान अधिकार प्राप्त हैं लेकिन यह एक कड़वा सच हैं कि आज भी देश में नारी को सती करने वाली घटनाएं होती हैं आज भी नारी को दहेज़ के नाम पर जिन्दा जलाया जा रहा है, डायन का नाम देकर जिन्दा मार दिया जाता है रुढ़िवादी परम्पराओं के नाम पर बलि चढ़ाई जा रही है और नारी का व्यापार हमारा सभ्य समाज कर रहा है। ऐसे ही समाज में कुछ ऐसी हस्तिया भी हुई हैं, जो कि इन सब घटनाओं ये ऊपर उठ कर परिश्रम कर एक ऐसे मुकाम पर हैं कि समूचा विश्व इनको देखकर इनसे प्रेरणा ले रहा हैं ऐसी ही एक हस्ती हैं जिनका नाम हैं चंदा कोचर (Chanda Kochhar), भारतीय उद्योग जगत और Banking के क्षेत्र में जाना माना नाम। Management Trainee की छोटी सी Post से बैंक के उच्चतम पद तक पहुंचने वाली Chanda Kochhar की सफलता महिला सशक्तिकरण का एक आदर्श उदाहरण है। आज चंदा कोचर लाखो महिलाओं की प्रेरणा स्त्रोत हैं। उनके जज्बे और मेहनत से, उन्हें आगे बढ़ने की सीख मिलती है जिन्होंने अपनी मेहनत,…

Moral Hindi Story, Hindi Kahani, Inspirational Hindi Stories, Hindi Moral Story For Kids दोस्तों, हर एक पल और अवसर कई बार हमें बहुत ख़राब लगते हैं लेकिन वो काफी अच्छे और फायदेमंद साबित होते हैं, इसलिए हर एक अवसर और घटना को बुराई से नहीं जोड़ना चाहिए और हर गलत चीज में भी जितना अच्छा सोच सको और ग्रहण कर सको, हमें करना चाहिए। आइये हम इसे एक बहुत ही सुन्दर कहानी के माध्यम से समझते हैं.. एक समुन्द्र के किनारें मछुवारो का गाव था, गांव छोटा ही था और वहां की आबादी भी गिनती की ही थी। वहां के लोग समुन्द्र के किनारे किसी तरह अपनी गुजर-बसर किया करते थे। वे मछलियाँ पकड़ते थे और व्यापारियों को बेच देते थे इसी तरह से ज़िन्दगी चल रही थी, लेकिन कई बार समुन्द्र के ज्वार-भाटों के कारण और जीवन बसर लायक मछलियाँ नहीं पकड़ पाने के कारण, उनको कई-कई दिन समुन्द्र में भी बिताने पड़ जाते थे, जो कि काफी जोखिम भरा था। एक दिन सभी मछुआरे अपनी अपनी नाव लेकर मछली पकड़ने के लिए समुन्दर में चले गए और जब रात गहरी होने लगी, तब तेज तूफ़ान आ गया फिर उस तूफ़ान के कारण मछुआरों की नावें अपना रास्ता भटक गई और…

Poor Indian Farmers, Bhariya Kisaan, Hindi Poem on Indian Farmers, Agriculture, Farmers’ suicides in India मित्रो, हम सभी जानते हैं कि भारत शुरू से ही एक कृषि प्रधान देश रहा है। यहाँ के 70% लोग किसान हैं। वे हमारें देश की “रीढ़ की हड्डी” के समान है वे खाद्य फसलों और तिलहन का उत्पादन करते हैं। वे हमारे उद्योगों के लिए कच्चे माल का उत्पादन करते हैं इसलिए वे हमारे राष्ट्र के जीवन रक्त के समान है। परन्तु फिर भी सरकार और केंद्र की नीतियां कृषि/किसानो के प्रति अच्छी नहीं रही हैं, हालांकि सरकार ने इस दिशा में कार्य तो किया हैं परन्तु इसका लाभ किसानो को “ऊँट के मुह में जीरे” के समान हैं। देश में हो रही असामान्य वर्षा, उच्च गुणवता वाले बीजो की कमी, फसलो का समर्थन मूल्य नहीं बढ़ना, फसल में कीड़ो का लगना, खाद के दाम बढ़ने ऐसे कई कारण हैं जिसके कारण किसानो पर इतनी मुसीबत आ जाती हैं कि अपना घर खर्च चलाने के लिए भी उन्हें कर्जा लेना पड़ता हैं और फिर अगर अगले साल कर्जा नहीं चुका पाते तो फिर वही, इस प्रकार कर्जा और बैंक के दबाव के कारण किसान आत्महत्या जैसा कदम उठा लेते हैं और कई अन्य कृषि…

Best Inspiring Moral Story in Hindi, The Psychology of Trust in Life, Hindi Learning, To get somebody’s words and tasks and benefits perfectly and fully, you need to trust on the person first, that only works. दोस्तों, एक बहुत ही साधारण और महत्वपूर्ण बात पूछता हूँ? सामने वाले व्यक्ति के विषय में आप कैसा सोचते हैं यह काफी कुछ इस बात पर depend करता हैं कि आपके साथ उसका relation कैसा हैं? आप उसको कितना महत्व देते हैं? यदि आपके दिमाग में हैं कि सामने वाला अच्छा नहीं हैं, उसका concept जटिल हैं या फिर वह उलझा हुआ इन्सान हैं, तो फिर वह भला इन्सान चाहे, कितनी ही कोशिश क्यों न कर ले, आपको कितनी भी अच्छी बातें और भले की बात ही क्यों न बताएं, आपको अच्छा नहीं लगेगा, उसकी बातें आपके दिमाग में से Bounce हो जाएगी, और आप एक कान से सुनकर दुसरे कान से निकाल देंगे, हैं ना? ऐसा ही होता हैं यानी कि अगर मैं सीधे-सीधे कहूं कि किसी भी चीज को जानने के लिए और समझने के लिए सामने वाले के प्रति निष्ठा रखना बहुत ज्यादा जरुरी है। बिना निष्ठा रखे, आप किसी भी concept को नहीं समझ सकते। महाभारत में भी इस बात…

Vallabhbhai Patel Quotes in Hindi & Biography, Vallabhbhai Patel Inspirational Thoughts, Iron Man Sardar Vallabhbhai Patel Sayings वल्लभ भाई पटेल : संक्षिप्त जीवन परिचय Vallabhbhai Patel (31 अक्टूबर 1875 – 15 दिसम्बर 1950) का जन्म नडियाद, गुजरात में एक लेवा गुर्जर प्रतिहार कृषक परिवार में हुआ था। वे खेड़ा जिले के कारमसद में रहने वाले झवेरभाई पटेल एवं लाडबा देवी की चौथी संतान थे। उनकी शिक्षा मुख्यतः स्वाध्याय से ही हुई। लन्दन जाकर उन्होंने बैरिस्टर की पढाई की और वापस आकर अहमदाबाद में वकालत करने लगे, अपनी वकालत के दौरान उन्होंने कई बार ऐसे केस लड़े जिसे दूसरे नीरस और हारा हुए मानते थे। उनकी प्रभावशाली वकालत का ही कमाल था कि उनकी प्रसिद्धी दिनों-दिन बढ़ती चली गई, गम्भीर और शालीन पटेल अपने उच्चस्तरीय तौर-तरीक़ों लिए भी जाने जाते थे। महात्मा गांधी के विचारों से प्रेरित होकर उन्होने भारत के स्वतन्त्रता आन्दोलन में भाग लिया। भारत की आजादी के बाद वे प्रथम गृह मंत्री और उप-प्रधानमंत्री बने। बारडोली सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे पटेल को सत्याग्रह की सफलता पर वहाँ की महिलाओं ने सरदार की उपाधि प्रदान की। वास्तव में वे आधुनिक भारत के शिल्पी थे। उनके कठोर व्यक्तित्व में विस्मार्क जैसी संगठन कुशलता, कौटिल्य जैसी राजनीति सत्ता तथा राष्ट्रीय…

India’s 100 Richest People List, Forbes India’s 100 Richest People List in Hindi, भारत के धन कुबेरपति, Top 10 Wealthiest Indian Billionaires दोस्तों, हम सब जानते हैं कि पैसे का हमारे जीवन में कितना महवपूर्ण स्थान है, लगभग सभी के दिमाग में यही चलता है कि पैसे कहाँ से आए, कैसे ज्यादा से ज्यादा पैसे कमाएं जाएँ, क्योकि एक पैसा ही हैं जोकि एक आरामदायक और सुखपूर्ण जीवन दे सकता हैं, जो लोग यह बोलते हैं की पैसा ही सब कुछ नहीं हैं क्यों पैसा-पैसा करते हो? उनकी जरूरते भी बिना पैसा के पूरी नहीं हो सकती, अत: इस सत्य से तो कोई मुहं नहीं मोड़ सकता कि पैसा एक बहुत ही बड़ी चीज हैं। हमारें देश में बहुत सारे धनकुबेर(Billionaires, Richest People) हैं, हम में से बहुत से लोगो को यह लगता हैं कि इनका यह सब पैसा पिता-दादा द्वारा दिया गया हैं और पैसे से पैसा तो कोई भी कमा लेगा, खैर यह तो सबकी अपनी-अपनी सोच हैं लेकिन कभी इनके बारें में और इनकी जीवन शैली के बारें में पढना, शायद ही कोई वह सब करता होगा जो आप इतना पैसा आने के बाद करने की सोचते हैं, इनमें से अधिकांश लोग बहुत ही संयमित और साधारण…

Abraham Lincoln letter to his son’s teacher in Hindi, GD Birla letter to son BK Birla in Hindi विश्व में जो दो सबसे सुप्रसिद्ध और आदर्श पत्र माने गए है उनमें एक है ‘अब्राहम लिंकन का… पुत्र के शिक्षक के नाम पत्र’ और दूसरा है ‘घनश्यामदास बिरला का पुत्र के नाम पत्र’ इन दोनों पत्रों को इतना समय बीत जाने के बाद भी उतना ही महत्व हैं जितना की उस समय था, ये दोनों अत्यंत प्रेरक पत्र जो हर एक व्यक्ति को जरूर पढ़ना चाहिए, आशा हैं आप भी इनको पढ़कर इससे लाभान्वित होंगे। “अब्राहम लिंकन का पत्र……. पुत्र के शिक्षक के नाम…” अब्राहम लिंकन अमेरिका के सोलहवें राष्ट्रपति थे। उन्होने अमेरिका को उसके सबसे बड़े संकट गृहयुद्ध (अमेरिकी गृहयुद्ध) से पार लगाया। अमेरिका में दास प्रथा के अंत का श्रेय लिंकन को ही जाता है इन्हें गुलामों का मुक्तिदाता भी कहा जाता है। लिंकन प्रारंभ से ही मेहनती, सरल स्वभाव के और बुद्धिमान थे। आजीविका चलाने और पढ़ाई के लिए उन्हें शुरू से ही काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। राष्ट्रपति लिंकन ने यह पत्र अपने बेटे के स्कूल प्रिंसिपल को लिखा था, यह पत्र एक ऐतिहासिक दस्तावेज है। लिंकन ने इसमें वे तमाम बातें लिखी थीं जो वे…

Azim Premji Quotes in Hindi & Success Story, Azim Premji, Chairman of Wipro, Czar of the Indian IT Industry, Azim Premji foundation अज़ीम प्रेमजी : संक्षिप्त जीवन परिचय Azim Hashim Premji (24 जुलाई 1945) एक भारतीय उधोगपति, निवेशक और भारतीय सॉफ्टवेयर कंपनी WIPRO के Chairman हैं। इनका जन्म मुंबई के एक निज़ारी इस्माइली शिया मुस्लिम परिवार में हुआ। इनके पूर्वज कच्छ (गुजरात) के निवासी थे। उनके पिता एक प्रसिद्ध Business man थे और “Rising King of Burma” के नाम से जाने जाते थे। भारत-पाक विभाजन के बाद मोहम्मद अली जिन्ना ने उनके पिता को पाकिस्तान आने का न्योता दिया था पर उन्होंने उसे ठुकराकर भारत में ही रहने का फैसला किया। सन 1945 में अजीम प्रेमजी के पिता मुहम्मद हाशिम प्रेमजी ने महाराष्ट्र के जलगाँव जिले के छोटे से शहर अमलनेर में ‘Western India Vegetable Products Limited’ की स्थापना की। यह कंपनी ‘Sunflower Vanaspati’ और कपड़े धोने के साबुन “787” का निर्माण करती थी। उनके पिता ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए उन्हें अमेरिका के Stanford University भेजा पर दुर्भाग्यवश इसी बीच उनके पिता की मौत हो गयी और अजीम प्रेमजी को Engineering की पढ़ाई बीच में ही छोड़कर भारत वापस आना पड़ा। उस समय उनकी उम्र मात्र 21 साल…

Motivational Poems in Hindi About Success, About Farmers, About our Goal बढ़ते क़दमों को न रुकने दो तुम, मंजिल तेरे सामने उसे हासिल कर लो तुम बढ़ते क़दमों को न रुकने दो तुम, मंजिल तेरे सामने उसे हासिल कर लो तुम। करेगा खिलाफत जमाना तेरे फैसलों का रेत पर लिखोगे तो मिटा देगा हवा का झोखा लिखना हैं तो पत्थर पर लिख गैरों से न, अपनी नामाकियों से सीख खुद का हौंसला आफजाई कर रास्ते बना अपना, काटकर पत्थर। देखो दरिया में उफाने तेज हैं उल्टी धारा में कश्ती चला साबित कर हम दीवाने तेज हैं। सहेज लो अपनी पहलू में अपनी दुनिया पा लो ख्वाहिशों और सपनो को जिसे तुमने देखा। – राज यादव ( Raj Yadav ) निकलना हैं मंजिलो की ओर, निकलना हैं खेतों की ओर खेतों में फिर बीजों को लगाना हैं चिड़ियों के संग सुबह उठ जाना हैं निकलना हैं मंजिलो की ओर निकलना हैं खेतों की ओर। मिटटी से सोना दुबारा उगाना हैं कुदरत लाख कहर भरपाएं तो क्या हमें हार नहीं मानना हैं ऐसा मैंने ठाना हैं, ऐसा सबको ठानना हैं। खेत जो जल से मग्न हैं पौधे जो बीजो से हीन हैं किसान जो आत्महत्या के लिए बेबस हैं उनका हौंसला बढ़ाना…

1 2 3 16

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Subscribe करें।

कृपया यहाँ Subscribe करने के बाद अपनी E-mail ID खोलें तथा भेजे गये Verification लिंक पर Click करके Verify करें।