भारत में Online Shopping में Coupon Market का तीव्र विकास

0

Coupon Code, Coupon Market, Online Deals, Promo Code, Affiliate Marketing in Hindi, BookMyShow Discount in Hindi, Flipkart, Amazon Discount, SnapDeal Coupon Code, Discount Deals in Hindi

दोस्तों, शायद आपने भी Online Shopping करते समय या फिर कोई Movie Ticket खरीदते समय कोई “Coupon Code” या “Promo Code” का लाभ जरुर उठाया होगा और उठाएं भी क्यों न? अगर हमें कोई वस्तु केवल एक मात्र Code डालने से कम मूल्य में प्राप्त हो जाए तो किसे अच्छा नहीं लगेगा, अगर आपने लाभ नहीं उठाया हैं तो उठाएं, आपकी जानकारी के लिए बता दूँ कि कि GMail में Promotional TAB, बटन पर जब आप Click करोगे तो आपको बहुत सारे ऐसे ही ईमेल प्राप्त हुए होंगे (इसमें से कुछ SPAM भी होते हैं, उनका थोडा सा ध्यान रखें), जिसका use करके लाभ का फायदा उठाया जा सकता हैं

आजकल तो BookMyShow वाले famous newspaper अखबारों में अपने Coupons Code बता देते हैं जिससे कि आपको Movie देखने के लिए ऑनलाइन टिकट बुक कराते समय कम पैसो का भुगतान करना पड़ता हैं,

Pop up showing Coupon Code to get discount

Ticket Booking using BookMyShow and getting Instant Discount according to Coupon Code

यह बहुत ही अच्छी और सुन्दर सुविधा हैं जिसका की सभी को लाभ उठाना चाहिए, हम में से बहुत सारे यह सोचते हैं कि इससे कंपनी को नुकसान होता होगा, ऐसा बिलकुल भी नहीं हैं और इससे कम्पनी को बहुत सारे फायदे होते हैं, आइये जानते हैं इस “Coupon Code”, “Coupon Market” का पूरा गणित और विश्लेषण..

“Coupon Code”, “Coupon Market”, “Online Deals”, “Promo Code” के बाज़ार का विस्तृत विश्लेषण

वर्ष 2011 में हर 10 Internet Users में से केवल एक ही व्यक्ति कूपन साइट्स को Access करता था, लेकिन 2013 तक आते आते इसकी संख्या में तेजी से वृद्धि हुई और यह बढ़कर 5 हो गई। अब हर 6 में से 5 इन्टरनेट यूजर कूपन साइट्स को इस्तेमाल में लाने लगा हैं 95% खरीददार Online Deals के बारे में देखते हैं ओर उनमे से 74% तक ही कूपन साइट्स तक पहुँचते हैं।

क्या आप जानते हैं कि भारत के इ-कॉमर्स के बाज़ार का 13.5% का हिस्सा केवल Coupon Business में ही लिप्त हैं जो कि 62.9 प्रतिशत की दर से लगातार बढ़ रहा हैं जिसमे की साल के हर महीने 7.6 millions नए यूजरस् हर पल जुड़ रहे हैं। अभी हाल ही के Economics Times की रिपोर्ट्स द्वारा, ये जानकारी सामने आई हैं कि कूपन सम्बंधित साइट्स के मुनाफे में 500% की बढ़ोतरी देखी गयी हैं जिसके पीछे प्रत्यक्ष रूप से इ-कॉमर्स के बड़े बड़े खिलाडियों को श्रेय जाता हैं जैसे कि Amazon India, Flipkart ओर Snapdeal आदि. फिलहाल एल.जी, सैमसंग, विडीओकोन, सोनी ओर पैनासोनिक ने अपने ट्रेड पार्टनर्स को ये सख्त निर्देश जारी किये हैं कि उनकी जानकारी के अभाव में फ़्लैश सेल्स के दौरान ऑनलाइन साइट्स में उनकी नाक के नीचे उनके प्रोडक्ट्स बेचे गए, इसी कारण उन्हें इसके अंतर्गत आये हुवे मुनाफे से दूर रखा जाएगा। Cannon ओर Lenovo ने भी साथ ही एक और बयान जारी किया हैं ये कहते हुए कि वो जल्द ही अलग-अलग प्रोडक्ट्स के सेट्स ओर मॉडल्स जारी करेंगे, ऑनलाइन ओर ऑफलाइन मार्किट में। बिज़नस स्टैण्डर्ड के माध्यम से किशोर बियानी जो कि चीफ एग्जीक्यूटिव हैं फ्यूचर ग्रुप के, उनके द्वारा ये ब्यान दिया गया हैं कि “इ-कॉमर्स यदि बिना डिस्काउंट दिए, बिना कोई ऑफर दिए, मुकाबला कर सकती सकती हैं तो माने” इ-कॉमर्स आज हमारे बीच में इसलिए हैं क्यूंकि discounts existence में हैं।

जब तक  E-commerce कंपनियों को फण्ड मिलता रहेगा तब तक ही वो अपने ग्राहकों को discount देने में सक्षम रहेंगी अन्यथा जिस दिन Funding रोक दी जाएगी उस दिन से डिस्काउंट बंद कर दिए जाएँगे और E-commerce बिज़नस का पतन शुरू हो जाएगा। भविष्य में इनके अस्तित्व का मार्ग हैं Coupons ओर Discounts, Coupons का लक्ष्य होता हैं कि वो किसी भी ऑनलाइन यूजर का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करे। एक मार्केटिंग कैंपेन इस चीज़ को ध्यान में रख कर व्यवस्थित किया जाता हैं की उपभोक्ता की माँग को देखते हुए Coupons की सुविधा उपलब्ध करवाई जाए, जिससे कि उनकी सेल्स में बढ़ोतरी हो ओर अगर इसका परिणाम कुल 100% नहीं भी आता तब भी इसका ऋण रूपांतरण तक पहुँच सकता हैं यानी की लगभग सेल्स का लक्ष्य पूरा हो सकता हैं जो कि campaign कि शुरुवाती दौर में निश्चित किया गया होगा।

Coupons परिणाम पाने के पश्चात एक प्रभावित माध्यम की तरह काम करता हैं
क्यूंकि Coupon Code इस चीज़ को सुनिश्चित करता हैं कि

  • कितने ग्राहकों ने किस कूपन को सबसे अधिक बार इस्तेमाल किया हैं?
  • किसी एक विशेष कूपन से कितना मुनाफा कमाया गया हैं?
  • कितने लोगो द्वारा Coupon का फायदा उठाया गया हैं या फिर कितने ग्राहकों द्वारा Coupons को देखा गया हैं?

कूपन्स की इस बढ़ती लोकप्रियता ने कई नई कूपन्स कंपनियों को जन्म दिया, यह कूपन्स वेबसाइट बड़े बड़े e commerce वेबसाइट के कूपन्स अपने रीडर्स के सामने लाती हैं जैसे Amazon Coupons, Flipkart Coupons और भी कई सारी e commerce वेबसाइट के कूपन्स। एक वास्तविक ओर सही परिणाम का पैमाना चैनल, कैंपेन, संचार, माध्यम ओर ग्राहक विशेष द्वारा तैयार किया जा सकता हैं। Coupons ग्राहकों को ये अनुभव कराने में सुनिश्चित होता हैं कि Online Shopping से उन्हें कितने तरह के लाभ प्राप्त हो सकते है वो भी बिना इस चीज़ का बोध कराते हुए कि जो किसी भी उत्पाद का वास्तविक MRP होता हैं यानी की (Maximum retail price) उससे नीचे के दाम में उसे बेच कर वो उपभोक्ताओं का विश्वास जीतते हैं ओर खुद के उत्पाद को और भी आकर्षक बनाते हैं।

ये एक तरीके से जरिये की तरह काम करता हैं उन बड़े Big Brands के लिए जिनको ये परखना होता हैं की किसी भी नए उत्पाद की कीमत बाज़ार में सही रखी गयी हैं या नहीं ओर इसमें इनके लिए Coupons किसी चमत्कार की तरह ही काम करते हैं। Coupons Market ने भारत के कई नौजवानों के लिए Business के अवसर खोल दिए हैं जिसमे उन्हें ख़ास तकनीकी ज्ञान ओर बहुत अधिक पैसे (निवेश के लिए) की आवश्यकता भी नहीं हैं। आज के समय में कोई भी कभी भी Affiliate Marketer बन सकता हैं किसी भी ब्रांड ओर E-commerce के लिए। वे लोग जो ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं तथा होनहार भी हैं उनके काम के अनुसार Affiliate Marketing उन्हें नतीजा देती हैं, और वो पैसे कमाते हैं।

निवेदन: कृपया comments के माध्यम से यह बताएं कि आपको यह POST कैसी लगी और अगर आपको यह जानकारी पसंद आए तो दोस्तों के साथ (facebook, twitter, Google+) share जरुर करें।

Share.

About Author

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

Leave A Reply