डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब) के अनमोल विचार Hindi Quotes B R Ambedkar

7

Popular Quotes By B R Ambedkar in Hindi, B R Ambedkar Quotes in Hindi, B R Ambedkar के महान अनमोल विचार

Dr. B R Ambedkar (भीमराव अंबेडकर) : संक्षिप्त जीवन परिचय

डॉ भीमराव अंबेडकर के प्रेरणादायी अनमोल विचार Dr.B R Ambedkar Quotes in Hindi

भारत को संविधान देने वाले महान नेता डॉ भीमराव राम जी अंबेडकर (14 अप्रैल, 1891 – 6 दिसंबर, 1956) एक विश्व स्तर के विधिवेत्ता थे। वे एक दलित राजनीतिक नेता, न्यायशास्त्री, अर्थशास्त्री और सामाजिक सुधारक होने के साथ-साथ, भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार भी थे। भीमराव अंबेडकर को आम तौर पर लोग बाबासाहेब के नाम से जानते हैं। बाबासाहेब का जन्म महार जाति में हुआ था जिसे लोग अछूत और बेहद निचला वर्ग माना जाता था। बचपन में भीमराव अंबेडकर (Dr.B R Ambedkar) के परिवार के साथ सामाजिक और आर्थिक रूप से गहरा भेदभाव किया जाता था।

स्कूली पढाई में सक्षम होने के बावजूद अंबेडकर और अन्य अस्पृश्य बच्चो को विद्यालय में अलग बिठाया जाता था और अध्यापको द्वारा न तो उन पर ध्यान दिया जाता था, न ही उनकी कोई सहायता की जाती थी। उनको कक्षा के अन्दर बैठने तक की अनुमति नहीं थी, साथ ही प्यास लगने पर कोई उच्च वर्ग का कोई व्यक्ति ऊचाई से पानी उनके हाथो पर डालता था, क्योकि लोगो के मुताबिक उनका पानी और पानी के पात्र को भी स्पर्श करने मात्र से पात्र और पानी दोनों अपवित्र हो जाते थे। आमतौर पर यह काम स्कूल के चपरासी द्वारा किया जाता था, जिसकी अनुपस्थिति में बालक आंबेडकर को बिना पानी के ही रहना पड़ता था। बाद में उन्होंने अपनी इस परिस्थिती को “ना चपरासी, ना पानी” से लिखते हुए प्रकाशित किया।

हिंदू धर्म में मानव समाज को चार वर्णों में वर्गीकृत किया है। जो कि इस प्रकार हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। बाबासाहेब ने इस व्यवस्था को बदलने के लिए सारा जीवन संघर्ष किया।

बाबासाहेब अनन्य कोटि के नेता थे, जिन्होंने अपना समस्त जीवन समग्र भारत के कल्याण के लिए लगाया। भारत के 80 फीसदी दलित सामाजिक व आर्थिक तौर से अभिशप्त थे, उन्हें अभिशाप से मुक्ति दिलाना ही भीमराव अंबेडकर के जीवन का संकल्प था।
डॉ॰ अंबेडकर एक बहुत ही होशियार और कुशल विद्यार्थी थे, उन्होंने कोलम्बिया विश्वविद्यालय और लन्दन स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स से बहुत सारी क़ानूनी डिग्री प्राप्त कर रखी थी और अलग-अलग क्षेत्रो में डॉक्टरेट कर रखा था। उनकी कानून, अर्थशास्त्र और राजनितिक शास्त्र पर अनुसन्धान के कारण, उन्हें विद्वान की पदवी दी गई। उनके प्रारंभिक करियर में वे एक अर्थशास्त्री, प्रोफेसर और वकील थे। बाद में उनका जीवन पूरी तरह से राजनीतिक कार्यों से भर गया, वे भारतीय स्वतंत्रता के कई अभियानों में भी शामिल हुए।

1990 में, मरणोपरांत डॉ अंबेडकर को सम्मान देते हुए, “भारत रत्न” से सम्मानित किया गया है, जो भारत का सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है।

B R Ambedkar Quotes in Hindi / डॉ भीमराव अंबेडकर के सुविचार

Hindi Quote 1 : आज भारतीय दो अलग-अलग विचारधाराओं द्वारा शासित हो रहे हैं। उनके राजनीतिक आदर्श जो संविधान के प्रस्तावना में इंगित हैं वो स्वतंत्रता, समानता, और भाई -चारे को स्थापित करते हैं और उनके धर्म में समाहित सामाजिक आदर्श इससे इनकार करते हैं।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 2: इतिहास बताता है कि जहाँ नैतिकता और अर्थशाश्त्र के बीच संघर्ष होता है वहां जीत हमेशा अर्थशाश्त्र की होती है। निहित स्वार्थों को तब तक स्वेच्छा से नहीं छोड़ा गया है जब तक कि मजबूर करने के लिए पर्याप्त बल ना लगाया गया हो।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 3: उदासीनता लोगों को प्रभावित करने वाली सबसे खराब किस्म की बीमारी है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 4: एक महान व्यक्ति एक प्रतिष्ठित व्यक्ति से अलग है क्योंकि वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार रहता है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 5: एक सफल क्रांति के लिए सिर्फ असंतोष का होना ही काफी नहीं है, बल्कि इसके लिए न्याय, राजनीतिक और सामाजिक अधिकारों में गहरी आस्था का होना भी बहुत आवश्यक है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 6: एक सुरक्षित सेना एक सुरक्षित सीमा से बेहतर है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 7: क़ानून और व्यवस्था राजनीति रूपी शरीर की दवा है और जब राजनीति रूपी शरीर बीमार पड़ जाएँ तो दवा अवश्य दी जानी चाहिए।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 8: जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हांसिल कर लेते, क़ानून आपको जो भी स्वतंत्रता देता है वो आपके किसी काम की नहीं।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 9: जिस तरह मनुष्य नश्वर है ठीक उसी तरह विचार भी नश्वर हैं। जिस तरह पौधे को पानी की जरूरत पड़ती है उसी तरह एक विचार को प्रचार-प्रसार की जरुरत होती है वरना दोनों मुरझा कर मर जाते है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 10: जिस प्रकार हर एक व्यक्ति यह सिद्धांत दोहराता हैं कि एक देश दूसरे देश पर शासन नहीं कर सकता, उसी तरह उसे यह भी मानना होगा कि एक वर्ग दूसरे वर्ग पर शासन नहीं कर सकता।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 11: ज्ञान का विकास ही मनुष्य का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 12: पति-पत्नी के बीच का सम्बन्ध घनिष्ट मित्रों के सम्बन्ध के समान होना चाहिए।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 13: मनुष्य का जीवन महान होना चाहिए ना कि लंबा।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 14: मैं उस धर्म को पसंद करता हूं जो स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे का भाव सिखाता हैं।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 15: मैं किसी समुदाय की प्रगति, महिलाओं ने जो प्रगति हांसिल की है, उससे मापता हूँ।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 16: यदि मुझे लगा कि संविधान का दुरुपयोग किया जा रहा है, तो मैं इसे सबसे पहले जलाऊंगा।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 17: यदि हम एक संयुक्त एकीकृत आधुनिक भारत चाहते हैं, तो सभी धर्मों के धर्मग्रंथों की संप्रभुता का अंत होना चाहिए।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 18: राजनीतिक अत्याचार सामाजिक अत्याचार की तुलना में कुछ भी नहीं है और एक सुधारक जो समाज को खारिज कर देता है वो सरकार को खारिज कर देने वाले राजनीतिज्ञ से ज्यादा साहसी हैं।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 19: लोग और उनके धर्म, सामाजिक नैतिकता के आधार पर, सामाजिक मानकों द्वारा परखे जाने चाहिए। अगर धर्म को लोगों के भले के लिये आवश्यक वस्तु मान लिया जायेगा तो और किसी मानक का मतलब नहीं होगा।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 20: समानता एक कल्पना हो सकती है, लेकिन फिर भी इसे एक गवर्निंग सिद्धांत रूप में स्वीकार करना होगा।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 21: समुद्र में मिलकर अपनी पहचान खो देने वाली पानी की एक बूँद के विपरीत, इंसान जिस समाज में रहता है वहां अपनी पहचान नहीं खोता। इंसान का जीवन स्वतंत्र है वह सिर्फ समाज के विकास के लिए पैदा नहीं हुआ है, बल्कि स्वयं के विकास के लिए पैदा हुआ है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 22: हम सबसे पहले और अंत में भारतीय हैं।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 23: हमारे पास यह स्वतंत्रता किस लिए है? हमारे पास ये स्वत्नत्रता इसलिए है ताकि हम अपने सामाजिक व्यवस्था, जो असमानता, भेद-भाव और अन्य चीजों से भरी है, जो हमारे मौलिक अधिकारों से टकराव में है, को सुधार सकें।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)

Hindi Quote 24: हिंदू धर्म में विवेक, कारण, और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।
B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब)


Note: सावधानी बरतने के बावजूद यदि ऊपर दिए गए किसी भी वाक्य या Quote में आपको कोई त्रुटि मिले तो कृपया क्षमा करें और comments के माध्यम से अवगत कराएं।

दोस्तों, ये “B. R. Ambedkar डॉ. भीम राव अम्बेडकर (बाबा साहेब) के अनमोल विचारो वाली” यह POST आपको कैसे लगी, इस बारे में हमे अपने विचार नीचे comments के माध्यम से अवश्य दे। हमारी पोस्ट को E-mail से पाने के लिए आप हमारा फ्री ई-मेल सब्सक्रिप्शन प्राप्त कर सकते है।

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational or motivational story, best quotes of famous personalities या कोई अच्छी जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया [email protected] हमे E-mail करें पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ AchhiBaatein.com पर PUBLISH करेंगे।

अन्य प्रेरणादायी विचारो वाली POST भी पढ़े।

Share.

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he have completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in programming and development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

7 Comments

    • Shilpa ji, agree with you.. अम्बेडकर जी ने ही जातीय भेदभाव को मिटाया हैं और उन्होंने आज हमें ऐसा वातावरण और समाज दिया हैं जिसमें हम सबको बराबर विचार प्रकट करने का अधिकार मिला हैं उन्होंने ही छुआछूत को मिटाकर हम सबको बराबर एक श्रेणी में रखा हैं… उनको मेरा सलाम…

  1. suneel Prajapati on

    han dosto baba saheb ke vicharo ko mera salam ….unke vichar mahan the…desh ke dalito ka adhikar baba sahab ke pure jeevan kal ke sanghars ka .meetha fhal hai…..unki kahi hr baat mishal hai
    …unho ne pura jeevan laga diya ..hamare liye kuch achha krne k liye…WO ek legend the
    …pr dukh ki bat to ye hai ..mere dosto ki aj ki dirty politics ne baba sahab k vicharo ko morality ki jagah Racism ka naam diya hai…….jai bheem

  2. NARENDER NIMBRANIA on

    Jab tak dunya rahegi,tab tak tera naam rahega,burai ko mitane ke liya baba sahib sada tera naam rahega.
    JAI BHIM JAI BHARAT

Leave A Reply

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Subscribe करें।

Signup for our newsletter and get notified when we publish new posts for free!