Monthly Archives: May, 2018

हिन्दी कविताएं
By 2
मैं सोचता हूं – कविताएं | Hindi Poems | Poetry

Hindi Poems, Hindi Poetry, Hindi Kavita, Poem By Rajkumar Yadav ## मैं सोचता हूं ठंडी ठंडी बहती हवा और पेड़ों की नरम छाया में तुम होती तो कितना अच्छा होता हवा के झोंके तुम्हारे जुल्फों को बिखेर जाते और मैं…

हिंदी शेर और शायरी
By 0
फटेहाल है हालत मेरी प्यार है चिथड़ा-चिथड़ा – Hindi Poem

फटेहाल है हालत मेरी प्यार है चिथड़ा-चिथड़ा आँखों से आँखों का ताना-बाना भी उधड़ा-उधड़ा लाई कहां हैं? किस मोड़ पे ये जिंदगी आजकल तू कुछ और है ना ओर, ना छोर न जाने कैसी रिश्तों की डोर है गुस्से में…

हिंदी शेर और शायरी
By 3
अरमां अरमां दिल के अरमां – Hindi Poem By Raj Kumar Yadav

मक्खियों के तरह दिल के अरमां भिनभिनायें जो भी देख लें मिठाई उस ओर बढ़ जायें बंदरों की तरह डाल डाल छलांग लगाये पकड़े टहनियां जिंदगी के गीत गायें अरमां अरमां दिल के अरमां बना दें जमीन को आसमां अरमां-अरमां…

हिंदी शेर और शायरी
By 3
ए मेरे Idiot आशिक – Hindi Poem By Raj Kumar Yadav

ए मेरे Idiot आशिक! मुझे मालूम है कि तुम मुझसे प्यार करता है और तुम मुझे कहने से भी डरता है। मैं भी देखती हूं कि कैसे तुम आके इजहार करता है ए मेरे Idiot आशिक! जब मैं घर से…

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter pinterest rss