अगर भारत में अंग्रेज नहीं आते | What if British Never Ruled India?

0

आज हम एक ऐसे भारत देश में रह रहे है जिसमे अगर आप इतिहास ना देखो तो आपको मालूम भी नहीं चलेगा कि अंग्रेजों ने यहाँ 300 साल तक राज किया था और सोने की चिड़िया कहे जाने वाले देश को कंगाल कर दिया था।

आपने कभी सोचा है कि अगर अंग्रेज़ भारत नहीं (भारत में ब्रिटिश शासन) आते तो हमारा देश कैसा होता, What if British Never Ruled India?

ये तो आज हम सभी जानते है कि ब्रिटिश राज से पहले हमारा देश (भारत) सोने की चिड़िया हुआ करता था लेकिन अंग्रेजो ने मिलकर हमारे देश को आर्थिक रूप से काफी कमजोर बना दिया है। अगर आप किताबों के पन्ने पलटकर देखेंगे तो आपको मालूम चलेगा कि भारत देश पर सबसे अधिक अंग्रेजों ने शासन किया।

अंग्रेजों ने अगर भारत पर 200 वर्षो तक राज नहीं किया होता तो आज भारत की क्या तस्वीर होती? बहुत से लोगो का ये मानना है कि अगर भारत पर अंग्रेजों का राज नहीं हुआ होता तो आज भी हम अनपढ़ और गंवार होते। वही इसके विपरीत कुछ लोगो का कहना है कि अगर भारत में अंग्रेज न आये होते तो आज हमारा भारत देश सबसे अमीर देश होता।

लेकिन दोस्तों क्या आपने कभी ये सोचा है कि अगर अंग्रेजों ने कभी भारत पर शासन नहीं किया होता तो आज हमारा भारत देश कैसा होता? हम हम “What if British Never Ruled India” में इसी पर आपसे चर्चा करने वाले है।

What if British Never Ruled India?

पूरे इतिहास में भारत की छवि हमेशा बदलती रही क्योंकि इसकी सीमाए घटती और बढती रही। बहुत कठिनाइयों से लड़ते लड़ते हमारा भारत देश बना। भारत को आजाद कराने में बहुत से लोगो ने अपनी कुर्बानी भी दी। आज हमारा देश विकास की राह पर चल रहा है और पूरी तरह से आजाद है। लेकिन क्या आपने सोचा है अगर भारत अभी तक आजाद नहीं हुआ होता तो आज हम कहा होते? चलिए चर्चा करते है।

क्या आप जानते है भारत पर सिर्फ अंग्रेजों ने ही नहीं बल्कि मुगलों ने भी राज किया था और अंग्रेजों ने 200 वर्ष राज किया लेकिन मुगलों ने हमारे देश पर 400 वर्ष तक राज किया तो फिर कुछ लोग सोचेंगे कि हम सिर्फ अंग्रेजों की ही बाते क्यों करते है। ऐसा इसलिए क्योंकि मुगलों ने 400 सालो में भारत को इतना नहीं लूटा जितना अंग्रेजों ने 200 सालो में लूट लिया।

सिर्फ यही नहीं अंग्रेजों ने भारत पर इस हद तक अत्याचार किये जिसे भुला पाना नामुमकिन है। स्वतंत्रता का मीठा स्वाद चखने के लिए लोगो ने बहुत खून पसीना बहाया।

शुरुवात में अंग्रेजो का भारत आने का मकसद सिर्फ व्यापार करने का था लेकिन जब उन्होंने देखा की भारत तो सोने की चिड़िया है तब उनके मन बदल गए और वो भारत पर शासन करने की सोचने लगे। अब उनकी किस्मत तो देखो अपने इस मकसद में अंग्रेज सफल भी हो गए।

अंग्रेजों ने भारत पर करीब 300 साल तक राज किया। आपको क्या लगता है कि भारत को सोने की चिड़िया क्या ऐसे ही कहा जाता था। भारत में सोने, चांदी, हीरे के खजाने भरे पड़े थे और यहाँ तक की दुनिया का सबसे महंगा कोहिनूर हीरा भी भारत में ही था।

अंग्रेजों के आने से पहले भारत के पास जितना धन था उतना किसी और देश के पास नहीं था। लेकिन जब अंग्रेज भारत पर शासन करते थे तब वो हर साल लगभग 4 मिलियन पौंड की दौलत लेकर जाते थे।

अंग्रेजों ने भारत पर शासन करने के लिए सबसे पहले तो छोटे-छोटे राज्यों को अपने अधीन करना शुरू कर दिया और जब छोटे राज्य उनके कब्जे में आ गए तब उन्ही छोटे राज्यों की मदद से बड़े राज्यों को भी अपने कब्जे में कर लिया। इस प्रकार अंग्रेज भारत पर शासन करने में कामयाब रहे।

जब अंग्रेजों ने भारत पर कब्ज़ा कर लिया तब उनकी सीधी नजर भारत की कृषि पर पड़ी और उन्होंने भारत की कृषि व्यवस्था को कमजोर करना चालू कर दिया। अब भारत की परंपरागत फसल की जगह तम्बाकू, कपास, तिल, चाय इत्यादि उगने लगे थे।

लेकिन आखिर इन फसलो को क्यों उगाया जाता था? क्योंकि इन फसलो से अंग्रेजों को इंटरनेशनल मार्किट से बहुत ज्यादा मुनाफा होता था। अंग्रेजों ने जमीदारों से उनकी जमीन छीन ली और उन जमीनों के नए जमीदार बनाए ताकि वो जमीदार उनके हर हुक्म का पालन करे।

लगान की दर में बढ़ोतरी कर दी गई जिससे पहले से डूबे हुए किसानो की हालत और भी ज्यादा ख़राब हो गई। दोस्तों अगर अंग्रेज भारत में नहीं आये होते तो भारत देश कृषि के श्चेत्र में सबसे उपर होता। अंग्रेजों ने भारत के कपडा व्यवसाय को पूरी तरह से ख़त्म कर दिया।

अंग्रेज कपडा बनाने के लिए भारत से कच्चा माल सस्ते में खरीदते थे। अब उस कच्चे माल को वो इंग्लैंड में तैयार करवाते थे और उसी माल को तैयार करके वो भारत में ही ज्यादा दामो पर बेचते थे। फिर अंग्रेजों ने कपडे बनाने की मशीने भारत में ही लगवा दी इस से उन्हें ये फायदा हुआ कि मजदूर उन्हें कम पैसो में मिल जाते थे।

हमारा देश आर्थिक रूप से काफी कमजोर होता जा रहा था जिस वजह से हमारा देश एक समय में निर्यातक के रूप में जाना जाता था अब वो सिर्फ आयातक बनकर रह गया था।

अगर अंग्रेजों ने भारत पर शासन नहीं किया होता तो आज भारत दुनिया में तीसरा सबसे अमीर देश होता। अगर ऐसा हुआ होता तो द्वितीय विश्वयुद्ध में भारत का एक भी आदमी नहीं मरता क्योंकि अंग्रेज नहीं होते तो भारत का युद्ध से कोई लेना देना ही नहीं था।

अगर अंग्रेज भारत नहीं आये होते तो शायद आज हम गुरुकुल में ही शिक्षा ग्रहण करते। आज हम जो भी कपडे पहनते है जैसे कि पेंट, शर्ट, कोट इत्यादि ये सभी उन अंग्रेजों की ही देन है।

अंत में जब अंग्रेज जाने लगे तब उन्होंने भारत को दो भागो में बाँट दिया जिस से भारत की भोगोलिक स्थिति ख़राब हो गई। 1947 में जो इतिहास रचा गया था वो सभी बातें किताबो में दर्ज है।

लेकिन ऐसा कहते है कि हर शासन में कुछ बुराइयाँ होती है तो कुछ अच्छाईयाँ भी होती है। अंग्रेजी शासन में कुछ काम अच्छे भी हुए थे। जैसे की आज हम जिस रेलवे को भारत की लाइफलाइन कहते है वो अंग्रेजों की ही देन है। शुरुवाती दौर में हवाईजहाज की शुरुवात भी अंग्रेजों द्वारा ही की गई थी।

अब हम ऐसा भी बोल सकते है कि अगर इन दोनों चीजों की शुरुवात अंग्रेजों ने नहीं की होती तो हम इस श्चेत्र में इतने आगे नहीं पहुँच पाते। भारत में उस समय जो सती-प्रथा चल रही थी उसे भी अंग्रेजों ने ही बंद करवाया था।

अंग्रेजों के आने से पहले भारत देश बहुत से टुकडो में बटा हुआ था जिसे उन्होंने एक कर दिया। अगर अंग्रेज नहीं आये होते तो शायद हिन्दुस्थान बहुत से टुकडो में बटा हुआ होता। हमारे देश में संसदीय चुनाव सबसे पहले अंग्रेजों ने ही करवाए थे।

5 Facts if British Never Ruled India

  1. दादा भाई नौरोजी की किताब Poverty & Un-British Rule in India के अनुसार उस समय भारत से 4 Million Pound धन भारत से बाहर भेजा जाता था जो कि अपने आप में एक बहुत बड़ा आकड़ा है। अगर अंग्रेज भारत नहीं आये होते तो भारत का नाम धनी देशो में शामिल होता।
  2. अगर भारत में अंग्रेज नहीं आते तो दुसरे विश्वयुद्ध में भारत का एक भी आदमी नहीं मारा जाता। क्योंकि भारत हमेशा से ही एक शांतिपूर्ण देश रहा है। अगर अंग्रेज सरकार नहीं होती तो दूसरे विश्वयुद्ध के साथ हमारा कोई लेना देना ही नहीं था। लेकिन अंग्रेज सरकार के आदेश की वजह से हमारे करीब 20 लाख लोगो को मजबूरन लड़ना पड़ा जिसमे से लाखो युवा कभी वापिस नहीं लौटे।
  3. वर्ष 1860 से पहले भारत में राजा शाही थी लेकिन अंग्रेजों ने भारत में संसदीय चुनाव पेश किये और ऐसा पहली बार हुआ जब लोग वोट कर सकते थे।
  4. अंग्रेजों के समय भारत में एक प्रथा थी जिसे “सती-प्रथा” के नाम से जाना जाता है। इस प्रथा के अनुसार अगर किसी पत्नी के पति की मृत्यु हो जाती है तो पत्नी को भी अपने पति के साथ जिन्दा जलना होता था। अंग्रेजों के सपोर्ट के कारण यह प्रथा भी ख़त्म हो गई। अब हम ये भी कह सकते है कि अगर उस समय अंग्रेजों ने भारत पर शासन नहीं किया होता तो ना जाने आज भारत में ऐसी कितनी प्रथाए होती।
  5. अगर हम 18वी सदी के पहले की बात करे तो भारतीय लोगो की ज़रूरते बहुत कम थी। दुनिया का 25% माल भारत अकेला एक्सपोर्ट करता था। इन दिनों भारत के व्यापारियों की लेन देन ज़्यादातर यूरोपियन के लोगो के साथ होती थी। इन सभी में हीरे, मोती, मसाले, कपडे इत्यादि का एक्सपोर्ट होता था और बदले में भारतीय व्यापारी उनसे सोने की मांग करते थे।

Last Word

दोस्तों अगर आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी What if British Never Ruled India पसंद आई हो तो आप इसे सोशल मीडिया (Facebook, Twitter, WhatsApp, LinkedIn) पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करे। दोस्तों हमें कमेंट करके यह भी बताये कि अगर अंग्रेज भारत नहीं आये होते तो आपके अनुसार आज के भारत में क्या बदलाव देखने को मिलते।

Post from – Manjeet Singh

Blog name – https://www.chalohindi.com

About Author

दोस्तों मेरा नाम Manjeet Singh है और मैं www.chalohindi.com ब्लॉग चलाता हू। आप मेरे ब्लॉग पर Quotes, Thoughts, Shayari, Blogging Tips, Make Money, Tips and Tricks इत्यादि विषय में पढ़ सकते है।

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

Leave A Reply