Dhirubhai Ambani Quotes in Hindi धीरूभाई अंबानी के अनमोल विचार

0

Dhirubhai Ambani Quotes in Hindi, Dhirubhai Ambani के महान अनमोल विचार

धीरजलाल हीराचन्द अंबानी (धीरूभाई अम्बानी) Dhirubhai Ambani एक प्रसिद्ध भारतीय व्यवसायी थे, जिन्होंने Reliance Industries की स्थापना की। मात्र हाईस्कूल तक की शिक्षा ग्रहण करने वाले धीरूभाई ने कैसे दृढ-संकल्प के बूते, स्वयं का विशाल व्यापारिक और औद्योगिक साम्राज्य स्थापित किया, यह प्रेरणादायी हैं।

सिर्फ तीन दशकों में ही उन्होंने अपने छोटे से कारोबार को एक विशाल औद्योगिक कंपनी में बदल डाला, न सिर्फ भारत बल्कि अंतराष्ट्रीय बाजार में भी रिलायंस एक बड़ी व्यवसायिक ताकत के तौर पर उभरी। साल 2012 के एक आंकड़े के हिसाब से रिलायंस इंडस्ट्रीज टॉप “500 फार्च्यून” कंपनियों में से एक थी।

आइये जानते हैं इनके जीवन के बारें में

Dhirubhai Ambani (धीरुभाई अंबानी) : संक्षिप्त जीवन परिचय

धीरुभाई अंबानी (28 दिसम्बर, 1932 – 6 जुलाई, 2002) अथवा का जन्म, गुजरात के जूनागढ़ जिले के चोरवाड़ गाँव में हुआ था, वह एक सामान्य मोध बनिया परिवार में जन्में थे। उनके पिता का नाम हिराचंद गोर्धनभाई अंबानी और माता का नाम जमनाबेन था। उनके पिताजी पेशे से एक अध्यापक थे। वह अपने पांच भाई-बहनों मे से तीसरे नंबर के थे। परिवार की आर्थिक तंगी के कारण उन्हें हाईस्कूल में ही पढ़ाई छोड़नी पड़ गई, परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए उन्होंने गिरनार के पास भजिए(पकोड़े) की एक दुकान लगाई, जो मुख्यतः यहां आने वाले पर्यटकों पर आश्रित थी लेकिन यह काम साल के कुछ समय सीजन पर ही अच्छा चलता था। यह काम साल में कुछ समय ही ठीक से चलता था, जिसकी वजय से धीरूभाई ने यह काम बंद कर दिया।

सन 1948 में मात्र सोलह साल की उम्र में ही वे अपने बड़े भाई रमणिकलाल की सहायता से यमन के एडेन शहर पहुंचे गए। वहां उन्होंने ‘ए. बेस्सी और कंपनी’ के साथ 300 रूपये प्रति माह के वेतन पर काम किया। लगभग दो सालों बाद ‘ए. बेस्सी और कंपनी’ जब ‘शेल’ नामक कंपनी के उत्पादों के वितरक बन गए, तब धीरुभाई को एडन बंदरगाह पर कम्पनी के एक फिलिंग स्टेशन में प्रबंधक की नौकरी मिली।

1958 में धीरुभाई भारत वापस आ गए और मात्र 15000 रूपये की पूंजी के साथ Reliance Commercial Corporation की शुरुआत की। रिलायंस वाणिज्यिक निगम का प्राथमिक व्यवसाय पोलियस्टर के सूत का आयात और मसालों का निर्यात करना था।

वे अपने दुसरे चचेरे भाई चंपकलाल दिमानी जो (उनके साथ ही एडन, यमन में रहा करते थे) के साथ साझेदारी में व्यवसाय शुरू की। रिलायंस वाणिज्यिक निगम का पहला कार्यालय, दो सहायकों के साथ मस्जिद बन्दर (Masjid Bunder) के नर्सिनाथ सड़क पर स्थापित हुआ। यह एक टेलीफोन, एक मेज़ और तीन कुर्सियों के साथ एक 350 वर्ग फुट का कमरा था। 1955 में, चंपकलाल दिमानी और धीरुभाई अंबानी की साझेदारी खत्म हो गयी और धीरुभाई ने स्वयं शुरुआत की। यह माना जाता है कि दोनों के स्वभाव अलग थे और व्यवसाय कैसे किया जाए इस पर अलग राय थी। 1960 तक अंबानी की कुल धनराशि 10 लाख रूपये आंकी गयी।

धीरुभाई अंबानी को इक्विटी कल्ट/सामान्य शेयर (equity cult) को भारत में प्रारम्भ करने का श्रेय भी दिया जाता है। भारत के विभिन्न भागों से 58,000 से ज्यादा निवेशकों ने 1977 में रिलायंस के आईपीओ (IPO) की सदस्यता ग्रहण की। धीरुभाई गुजरात के ग्रामीण लोगों को आश्वस्त कर सके कि उनके कंपनी के शेयरधारक होने से उन्हें अपने निवेश पर केवल लाभ ही मिलेगा

रिलायंस उद्योग यह विशेषता रखता हैं कि यही एक ऐसा Private Sector Company है जिसके कई वार्षिक आम बैठकें (Annual General Meetings) मैदानों (stadium) में भी हुई है। 1986 में, रिलायंस इंडस्ट्रीज की वार्षिक आम बैठक क्रॉस मैदान  मुंबई में की गई, जिसमे 35,000 शेयरधारकों और रिलायंस के परिवार ने भाग लिया।

धीरुभाई अम्बानी की पत्नी का नाम कोकिलाबेन हैं और उनके दो बेटे मुकेश अम्बानी, अनिल अम्बानी और दो बेटियां नीना कोठारी, दीप्ति सालोंकर है।

दिल का दौरा पड़ने के बाद धीरुभाई को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में 24 जून, 2002 को भर्ती कराया गया, 6 जुलाई 2002 को धीरुभाई अम्बानी ने अपनी अन्तिम सांसें लीं।

धीरुभाई अम्बानी को मिले सम्मान और पुरस्कार

  • शियन बिज़नस लीडरशिप फोरम अवार्ड्स 2011 में मरणोपरांत ‘एबीएलएफ ग्लोबल एशियन अवार्ड’ से सम्मानित
  • भारत में केमिकल उद्योग के विकास में महत्वपूर्ण योगदान के लिए ‘केमटेक फाउंडेशन एंड कैमिकल इंजीनियरिंग वर्ल्ड’ द्वारा ‘मैन ऑफ़ द सेंचुरी’ सम्मान, 2000
  • एशियावीक पत्रिका द्वारा वर्ष 1996, 1998 और 2000 में ‘पॉवर 50 – मोस्ट पावरफुल पीपल इन एशिया’ की सूची में शामिल
  • वर्ष 1998 में पेनसिल्वेनिया विश्वविद्यालय द्वारा अप्रतीम तेत्रित्व के लिए ‘डीन मैडल’ प्रदान किया गया
  • वर्ष 2001 में ‘इकनोमिक टाइम्स अवार्ड्स फॉर कॉर्पोरेट एक्सीलेंस’ के अंतर्गत ‘लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड
  • फेडरेशन ऑफ़ इंडियन चैम्बर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) द्वारा ‘मैन ऑफ 20th सेंचुरी’ घोषित
  • भारत सरकार द्वारा पद्म विभूषण (2016)

Dhirubhai Ambani Quotes in Hindi / धीरुभाई अम्बानी के अनमोल सुविचार

यदि आप अपने सपने पुरे नहीं करोंगे तो कोई और आपको अपने सपने पुरे करने के काम में लगाएगा।
– Dhirubhai Ambani

जो सपने देखने की हिम्मत करते हैं, वो पूरी दुनिया को जीत सकते हैं।
– Dhirubhai Ambani

हमारे स्वप्न विशाल होने चाहिए। हमारी महत्त्वाकांक्षा ऊँची होनी चाहिए। हमारी प्रतिबद्धता गहरी होनी चाहिए और हमारे प्रयत्न बड़े होने चाहिए। रिलायंस और भारत के लिए यही मेरा सपना है।
– धीरूभाई अंबानी

पापा कहते थे की सपने मत देखो, सपने कभी पुरे नहीं होते, पर मैंने एक सपना देखा और वो पूरा भी हुआ।
– Dhirubhai Ambani

यदि आपको अपने चुने हुए मार्ग पर विश्वास है, इस पर चलने का साहस है और मार्ग की हर कठिनाई को जीतने की शक्ति है; तो आपका सफल होना निश्चित है।
– Dhirubhai Ambani

एक दिन धीरूभाई चला जायेगा लेकिन Reliance के कर्मचारी और शेयर होल्डर इसको चलाते रहेंगे, रिलायंस अब एक विचार है जिसमे अम्बानियों का कोई अर्थ नहीं है।
– Dhirubhai Ambani

अगर आप गरीब पैदा होते हैं, ये आपकी गलती नहीं है लेकिन आप गरीब मर रहे हैं तो ये आपकी गलती है।
– Dhirubhai Ambani

जब आप किसी लक्ष्य का सपना देखते हैं केवल तभी आप वो लक्ष्य पा सकते हैं।
– Dhirubhai Ambani

हम सभी, जीवन भर संघर्ष करते हैं, क्यूंकि जो हम चाहते हैं वो हम नहीं पा पाते। मैंने जीवन में एक महत्वपूर्ण चीज़ सीखी है कि कैसे अपने लक्ष्य के प्रति अडिग बने रहें, कैसे उम्मीद ना छोड़ें क्यूंकि पहले ही प्रयास में सफल नहीं हुआ जाता।
– धीरूभाई अंबानी

हममें से हर किसी के पास समान अवसर होते हैं और ये बात सभी के लिए सत्य है।
– Dhirubhai Ambani

मेरा मानना है कि पैसे से सब कुछ नहीं बल्कि केवल थोडा बहुत किया जा सकता, ये मेरा हर जगह का अनुभव है।
– Dhirubhai Ambani

आपको पैसे का प्रबंधन करना चाहिए। विशेष रूप से बाजार की अर्थव्यवस्थाओं के साथ। हो सकता है कि आपके पास बहुत अच्छे उत्पाद(Products) हों लेकिन अगर आपकी नींव कमजोर है तो आप फेल हो जायेंगे।
– Dhirubhai Ambani

मूलतः, वही इंसान सफल है जो कुछ काम कर रहा है यही बात फर्क पैदा करती है।
– धीरूभाई अंबानी

यह सच है कि उद्यमशीलता जोखिम लेने से ही आता है।
– Dhirubhai Ambani

कठिनाइयों में भी अपने लक्ष्य को पाने की कोशिश करें| कठिनाइयों को अवसरों में तब्दील करें। असफलताओं के बावजूद, अपना मनोबल ऊँचा रखें। अंत में सफलता आपको अवश्य मिलेगी|
– Dhirubhai Ambani

रिलायंस में विकास की कोई सीमा नहीं है। मैं हमेशा अपना vision दोहराता रहता हूँ। सपने देखकर ही आप उन्हें पूरा कर सकते हैं।
– Dhirubhai Ambani

युवाओं को एक अच्छा वातावरण दीजिये| उन्हें प्रेरित कीजिये| उन्हें जो चाहिए वो सहयोग प्रदान कीजिये| उसमे से हर एक आपार उर्जा का श्रोत है| वो कर दिखायेगा|
– Dhirubhai Ambani

मेरे भूत, वर्तमान और भविष्य के बीच एक आम कारक है – रिश्ते और विश्वास| यही हमारे विकास की नीव हैं|
– Dhirubhai Ambani

समय सीमा पर काम ख़तम कर लेना काफी नहीं है, मैं समय सीमा से पहले काम ख़तम होने की अपेक्षा करता हूँ|
– Dhirubhai Ambani

युवा उद्यमियों को मेरी सलाह है कि हार स्वीकार ना करें और चुनौतियों और नकारात्मक बलों का पूर्ण आशा और आत्मविश्वास के साथ सामना करें।
– Dhirubhai Ambani

आपको कमाने के लिए कुछ का कुछ calculated risk तो लेना ही पड़ेगा।
– Dhirubhai Ambani

मैं गीता में जीता हूँ।
– Dhirubhai Ambani

आप अपने लक्ष्य तक कभी नहीं पहुच पाओगें यदि आप हर भौकने वाले कुते को पत्थर मारोगे, बेहतर तो यह हैं कि इनको बिस्कुट दो और आगे बढ़ो।
– Dhirubhai Ambani

कुछ लोग सोचते हैं कि अवसर केवल किस्मत वालो को मिलते हैं लेकिन मेरा विश्वास हैं कि अवसर तो हमारें चारो तरफ हैं कुछ लोग इसको भुनाना जानते हैं और कुछ लोग खड़े रहते हैं और इसको जाने देते हैं।
– Dhirubhai Ambani

तमाम गतिरोध के बावजूद अपना मनोबल ऊंचा रखे, अंत में सफलता को बाध्य होना ही पड़ेगा।
– Dhirubhai Ambani

जब मैं छोटा था और स्कूल में पढता था मैं Civil Guard का सदस्य हुआ करता था, हम अपने ऑफिसर्स जो कि जीप में बैठे होते थे को सलामी देते थे तब मैं सोचा करता था एक दिन मैं भी जीप में बठुगा और लोग मुझे सलामी करेंगे।
– धीरूभाई अंबानी

हमें हमेशा केवल सर्वोत्तम के लिए प्रयास करना चाहिए। गुणवत्ता पर समझौता नहीं किया जा सकता, अगर वस्तु सर्वोतम नहीं हैं तो उसे अस्वीकार कर दो, और यह केवल भारत के लिए नहीं बल्कि विश्व के लिए होना चाहिए।
– Dhirubhai Ambani

क्या पैसा मुझे प्रोत्साहित करता हैं, नहीं मैं तो अपने शेयर होल्डर्स के लिए पैसा कमा रहा हूँ मुझे तो केवल उपलब्धि चाहिए, मैं हमेशा कुछ कठिन कार्य करना चाहता हूँ।
– Dhirubhai Ambani

एक प्रेरित जनशक्ति(motivated manpower) सबसे महत्वपूर्ण बात है।
– Dhirubhai Ambani

मेरा वायदा है कि सबसे सस्ता और गुणवत्ता पूर्ण उत्पादन प्रदान करूँगा।
– धीरूभाई अंबानी

सेवानिवृत्ति का तो कोई प्रश्न ही नहीं हैं। मेरा कारोबार तो मेरा शौक हैं यह मेरे लिए एक बोझ नहीं है। रिलायंस को तो मेरे बिना भी चलाया जा सकता हैं।
– धीरूभाई अंबानी

शिक्षा बहुत ही आवश्यक चीज हैं अगर यह आवश्यक नहीं होती तो मैं मेरे बेटो को शिक्षा नहीं दिलवाता मुझे कठिन मार्ग पता हैं, लेकिन शिक्षित व्यक्ति उसी काम को जल्दी और अच्छा कर सकता हैं बिना कठिनाई के।
– Dhirubhai Ambani

प्रौद्योगिकी का जितना अधिक उपयोग कर सकते हो करो, इससे आप कल से भी एक कदम आगे रहोगे।
– Dhirubhai Ambani

हम भारतीयों की समस्या यह है कि हमने बड़ा सोचने की आदत खो दी है|
– Dhirubhai Ambani

मैं भारत को एक महान आर्थिक महाशक्ति बनने का सपना देखता हूँ|
– Dhirubhai Ambani

यदि भारत को एक महान राष्ट्र बनना चाहता है, तो हमें भरोसा करने का साहस होना चाहिए| यह मेरा विश्वास है|
– Dhirubhai Ambani

ना शब्द मुझे सुनाई नहीं देता|
– Dhirubhai Ambani

हम दुनिया को साबित कर सकते हैं कि भारत सक्षम राष्ट्र हैं| हम भारतीयों को प्रतियोगिता से डर नहीं लगता| भारत उपलब्धियां प्राप्त करने वालों का राष्ट्र है|
– धीरूभाई अंबानी

कठिनाइयों में भी अपने लक्ष्य को पाने की कोशिश करें कठिनाइयों को अवसरों में तब्दील करें| असफलताओं के बावजूद, अपना मनोबल ऊँचा रखें| अंत में सफलता आपको अवश्य मिलेगी|
– Dhirubhai Ambani

बड़ा सोचो, जल्दी सोचो, आगे सोचो| विचारों पर किसी का एकाधिकार नहीं है|
– Dhirubhai Ambani

रिलायंस की सफलता का राज़ मेरी महत्वाकांक्षा और अन्य पुरुषों का मन जानना है|
– Dhirubhai Ambani

हम अपने शाशकों को नहीं बदल सकते पर जिस तरह वो हम पे राज करते हैं उसे बदल सकते हैं|
– Dhirubhai Ambani

फायदा कमाने के लिए न्योते की ज़रुरत नहीं होती|
– Dhirubhai Ambani

यदि आप दृढ संकल्प और पूर्णता के साथ काम करेंगे तो सफलता ज़रूर मिलेगी|
– Dhirubhai Ambani

अन्य प्रेरणादायी विचारो वाली POST भी पढ़े,

Save

Save

Save

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter pinterest rss

Leave A Reply