दिमाग को तेज मजबूत और Sharp रखने के तरीके Brain Health Tips

2

How to keep your mind Sharp & Active, Brain Health Tips in Hindi, दिमाग को तेज़ कैसे करें

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव एक ऐसा पहलु है जिससे कभी न कभी हर व्यक्ति को गुजरना ही पड़ता है। व्यस्त जीवनशैली और काम के दबाव व जिम्मेदारी के चलते दिमाग की कार्यक्षमता बढ़ जाती है। ऐसे में शारीरिक रूप से फिट होने के साथ-साथ मानसिक रूप से मजबूत होना भी बहुत जरूरी है। फिट रहने के लिए जिस तरह से Exercise करना जरुरी है, उसी तरह Brain को एक्टिव बनाने और मेमोरी पावर बढ़ाने के लिए ब्रेन को एक्टिव रखने के लिए दिमाग की एक्सरसाइज भी बहुत ही जरूरी है। दरअसल दिमागी एक्सरसाइज से सोचने और समझने की शक्ति में वृधि होता है। साथ ही आप हर तरह की परिस्थितियों का सामना करने के लिए भी मजबूत होते है। इसलिए दिमाग को तंदुरुस्त और एक्टिव रखने के लिए ख़ास तरीकों और Exercises को अपनाना आवश्यक है।

चलिए बिना देर करते हुए जानते है कि दिमाग को एक्टिव और मजबूत कैसे रखा जाए, जिससे कि तनाव से आसानी से निपट सके।

इन खास Exercises से रखें दिमाग (Brain) को चुस्त, दुरस्त (Active)

न्यूरोबिक्स एक्सरसाइज करें

अपने दिमाग में फिजिकल सेन्स जैसे कि देखना, सुनना, सूंघना, छूना, स्वाद का पता लगाने जैसी क्रियाओं के साथ ही इमोशनल सेंस को लेकर भी कुछ नए प्रयोग करें। इससे ब्रेन के अलग-अलग भागों को उत्तेजित करने में मदद मिलेगी। जिसके कारण नर्व सेल्स मस्तिष्क के प्राकृतिक पोषक तत्वों को उत्पादित करने का काम करेंगी। इससे याद्दाश्त बढ़ाने के साथ ही मस्तिष्क ( दिमाग ) सेल्स ( कोशिकाएं ) भी मजबूत होंगी। इससे आप उम्र के अनुसार होने वाले प्रभावों को कम कर सकते है और इससे आपका माइंड एक्टिव और मजबूत बना रहेगा।

रोजाना की एक्टिविटीज में बदलाव लाएं

अपने रोजाना के क्रियाकलापों में बदलाव लाकर भी दिमाग को एक्टिव रखा जा सकता है। ब्रेन इमेजिंग स्टडी से सामने आया है कि अगर रूटीन में कुछ अलग तरह की एक्सरसाइज को किया जाता है तो मस्तिष्क के कॉर्टेक्स पर उसकी इमेज ज्यादा बनती है। इससे तरह की सूचनाएं मिलने से दिमाग की एक्टिविटी बूस्ट होती है। जैसे ब्रेकफास्ट करने के बाद तैयार होएं, अगर आपके पास कोई पालतू जानवर है तो उसे घुमाने ले जाएं। पसंदीदा टीवी प्रोग्राम्स को बदलें। आपको बदलाव महसूस होने लगेगा।

कुछ अलग करने की सोचें

जब आप चीजों को सही तरह से देखते या छूते है तो आपका बायां (वर्बल) मस्तिष्क तुरंत उन चीजों को पहचान लेता है साथ ही आपका ध्यान भी और कहीं चला जाता है। इसी के विपरीत जब आप कुछ अलग करते है तो आपका दायां ब्रेन (मस्तिष्क) एक्टिव होता है। और उन चीजों को पहचानने की कोशिश करता है अपने घर में अपनी फैमिली पिक्चर्स को उल्टा करके पहचानने की कोशिश करें या आप घड़ी को उल्टा करके समय देखने की कोशिश करें। इससे आपको दिमाग को एक्टिव और मजबूत करने में काफी मदद मिलेगी।

उलटे हाथ से ब्रश करें

आप नियमित तौर पर जिस हाथ का प्रयोग ब्रश करने के लिए करते है, तो अबकी बार दूसरे हाथ से ब्रश करने के लिए ट्राई करें। इससे आपके दिमाग का दूसरा हिस्सा भी एक्टिव रहेगा। एक रिसर्च में सामने आया है कि ब्रेन या मस्तिष्क के विपरीत भाग को काम में लेने से कॉर्टेक्स का बहुत अधिक फैलाव होता है, जिससे तुरंत परिणाम मिलता है। हमारा दिमाग उलटे हाथ की सूचनाओं पर बहुत तेजी से प्रक्रिया देता है जिससे कि मस्तिष्क एक्टिव और मजबूत बनता है।

शावर के दौरान आँखें बंद कर लें

आंखें बंद करके शावर लेना भी काफी मज़ेदार होता है। इस दौरान फिर आपको स्पर्श करके ही महसूस करना होगा। इस तरह से जब हाथों से संदेश मस्तिष्क तक पहुंचेगा तो इससे आपका दिमाग भी ज्यादा एक्टिव रहेगा। इस एक्सरसाइज को करने के लिए बाथरूम में जाने के बाद ही आंखें बंद कर लें और चीजें स्पर्श करके पहचानें। आँखें बंद करने के दौरान ही नल का पता लगाएं, और फिर उसे चलाएं और आँखें बंद रहते ही नहाएं। ये आपके लिए काफी मज़ेदार भी होगा और इससे आपका दिमाग भी एक्टिव रहेगा।

डाइनिंग टेबल पर अपनी साइट बदलें

यदि Workplace या ऑफिस में आपके पद या जगह में बदलाव होता है तो उस माहौल में फिट होने के लिए आपको थोड़ा समय तो अवश्य लगेगा ही। इसी तरह अगर इस एक्टिविटी को एक एक्सरसाइज के रूप में लिया जाए तो दिमाग की सक्रियता को बढ़ाया जा सकता है। इस तरह डाइनिंग टेबल पर अपनी जगह में बदलाव करके खाने-पिने की चीजों चीजों को अलग जगह से लेने पर आपको अलग तरह से फोकस करना पड़ता है। इसी तरह यह छोटी सी एक्सरसाइज भी दिमाग को एक्टिव रखने के लिए बहुत कारगर हो सकती है। इसके अलावा आप योग करें, योग व मेडिटेशन आपके दिमाग के लिए बहुत फायदेमंद है। इसलिए रोजाना योग और मेडिटेशन करें। इससे आपका तनाव कम होगा और दिमाग रिलैक्स रहेगा।

इन बातों का भी ख़ास ख्याल रखें

  • धूम्रपान का हमारे शरीर पर बहुत बुरा असर पड़ता है इसलिए धूम्रमान से बचें रहें।
  • शरीर में पानी की कमी न होने दें।
  • जल्दी सोने व सुबह जल्दी उठने की आदत डालें।
  • हमें दिन में कम से कम 15 मिनट तक खुले और शान्ति प्रिय स्थान पर रहना चाहिए और अपने दिमाग से बेकार या जो भी Useless बातें हो उन्हें बाहर निकाल देना चाहिए। इससे आपके दिमाग को आराम मिलेगा।
  • संगीत को अपनी जीवनशैली के साथ जोड़े। इससे आप ज्यादा से ज्यादा खुश रह पाएंगें।
  • विटामिन-सी से भरपूर चीजें खाने के अलावा आंवला, दूध, दही, पालक आदि का भरपूर इस्तेमाल करना चाहिए।
  • रोजाना की दिनचर्या में सूखे मेवे खाएं। कई सेहत वैज्ञानिकों के अनुसार यदि बच्चा पढ़ रहा है तो उसे रोजाना सूखे मेवों का सेवन कराएं। इससे बच्चे के दिमाग के सोचने और कार्य करने की क्षमता 19 फीसदी बढ़ जाती है। साथ ही दिमाग की नसों का विकास भी तेजी से होता है जिससे एकाग्रक्षमता भी बढ़ती है। बादाम, अखरोट, किशमिश प्रमुख रूप से दिमाग के लिए अच्छे होते है।

दिमाग को एक्टिव रखना है तो इन कामो से करें तौबा

  • देर रात तक टीवी का या अपने मोबाइल फ़ोन का प्रयोग न करें।
  • ज्यादा देर व लम्बे समय तक एकांत या अकेले में रहने से बचें। इससे आप हकीकोमोरी के शिकार हो सकते है।
  • मार्किट के जंक व फ़ास्ट फ़ूड से परहेज करें। क्योंकि इनमें पनपे कीटाणु व बैक्टीरिया दिमाग की सूक्ष्म कोशिकाओं पर बुरा असर डालते है और इससे आप मोटापे के शिकार भी हो सकते है। इसलिए जंक फ़ूड से दूर रहें तो ही अच्छा हैं।
  • मानव दिमाग की नसें सीधे तौर पर कान से जुडी होती है ऐसे में हैडफ़ोन का प्रयोग कम करें।

Conclusion

हम अपने शरीर को एक्टिव रखने के लिए बहुत से तरीकों को अपनाते है जैसे एक्सरसाइज करना, रनिंग करना, जिम जाना वगैरह-वगैरह। इसी तरह हम अपने दिमाग को मजबूत और एक्टिव रखने के लिए भी बहुत सारी Activities कर सकते है जैसे कि Puzzle games, पहलियाँ, शतरंज या आप बुक्स भी पढ़ सकते है। इसके साथ-साथ आप ऊपर बताए गए टिप्स की भी पोस्ट (दिमाग को मजबूत और एक्टिव रखने के तरीके) द्वारा जानकारी ले सकतें।

चलिए कुछ Extra Health Tips के बारें में भी जान लेते हैं

शाकाहारी रहने से नहीं होंगे किडनी के रोग

एक नए शोध में पाया गया है कि अगर शाकाहारी भोजन किया जाए तो किडनी से संबंधित कई बीमारियों से निजात पाई जा सकती है। इंडियाना विश्वविद्यालय के अध्ययन में शाकाहार मांसाहार के प्रभावों पर गौर किया तो पाया कि जो लोग शाकाहारी है उनकी तुलना में मांसाहारी लोगों के मूत्र में अधिक फॉस्फोरस पाया गया है। हृदय संबंधी बीमारियों में भी शाकाहारियों को ज्यादा फायदा देखने को मिलता है।

सुबह की सैर दूर करती है तनाव

हाल ही के अध्ययन में यह बात सामने आई है कि सुबह की सैर शरीर को ही चुस्त-दुरुस्त नहीं रखती बल्कि अवसाद से निजात पाने में भी सहायक है मेंटल हेल्थ एंड फिजिकल एक्टिविटी प्रकाशित शोध दर्शाता है कि सैर की अवसाद कम करने में काफी अहम भूमिका रहती है। कड़े शारीरिक व्यायाम से अवसाद के लक्षण को कम करने में उपयोगी माना जाता रहा था इस शोध ने शाम की सैर को भी कारगर माना है।

थकावट देता है वसायुक्त भोजन

वसायुक्त भोजन यानी तला हुआ और जंकफूड खाने से व्यक्ति की सतर्कता प्रभावित होती है। और वह पुरे दिन थका-थका रहता है। अमेरिकी शोधकर्ताओं के अनुसार उच्च वसायुक्त भोजन लेने से दिन में नींद आती है और व्यक्ति का किसी भी काम में मन नहीं लगता। वहीं अगर कोई हाई कार्बोहाइड्रेट भोजन जैसे चावल खाता है तो उनमें भरपूर एनर्जी बनी रहती है। संतुलित खान-पान ही हेल्दी रहने की प्रथम सीढ़ी है।

अच्छे जीवन के लिए है घूमना-फिरना जरूरी

हाल ही में ब्रिटिन के सबसे बड़े चैरिटी हैल्थकेयर संस्थान न्यूफ़ील्ड हेल्थ में हुए वैज्ञानिक अध्ययन के निष्कर्षों में यह साबित हो गया है कि छुट्टियां मनाना फिरना सेहत संबंधों और सेक्स लाइफ को फिर से पाने का बेहतरीन जरिया है एक्सपर्ट कहते है कि आबो-हवा बदलने से शरीर की कार्यप्रणाली अपने आप ही बदलती है और बिगड़ी बॉडी क्लॉक ठीक हो जाती है।

I Hope कि आपको ये आर्टिकल दिमाग को मजबूत और एक्टिव रखने के तरीके पसंद आया होगा। अपने विचार कमेंट बॉक्स में अवश्य बताएं। आपसे फिर मुलाकात होगी एक नए और फ्रेश आर्टिकल के साथ तब तक के लिए खुश रहिए और स्वस्थ रहिए।

धन्यवाद।

संदीप जैन
Blog: https://www.hashwh.com/
Ocean of Health Information

About Author

Founder of Blog https://www.hashwh.com - Ocean of Health Information

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

2 Comments

Leave A Reply