तिल और तिल के तेल से होने वाले अनमोल फायदे Health Benefits of Sesame

2

Amazing Health Benefits of Sesame and Sesame oil (in Hindi)

बड़ा गुणकारी है तिल का तेल, जानिए उसके बेहतरीन फायदे, स्वास्थ्य लाभ, तिल का तेल  और तिल में छिपे हैं हजारो गुण, फायदे जानकर चौंक जाएंगे

आयुर्वेद के अनुसार तिल बलवर्धक होता हैं सर्दी के दिनों में उसकी उपयोगिता बढ़ जाती हैं। तिल तीन प्रकार के होते हैं काले सफ़ेद और लाल। काले तिल सर्वोत्तम और बल वीर्यवर्धक होते हैं सफ़ेद तिल मध्यम और लाल तिल हीन गुण वाले होते हैं। काले तिल तंत्र-मंत्र, हवं पूजा आदि धार्मिक कार्यों के साथ साथ औषधीय कार्यों में भी उपयोगी होते हैं।

तिल में पोषक तत्वों का खजाना हैं। इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी पाया जाता हैं जिसके कारण यह भूख बढाता हैं भोजन को भली भाति हज़म करता हैं तन्त्रिका तंत्र को बल प्रदान करता हैं।

आयुर्वेद चिकित्सा विज्ञानं के अनुसार तिल स्निग्ध, मधुर और उष्ण होने से वात का शमन करता हैं यह कफ़ और पित्त को नष्ट करता हैं। बालों के लिए इसका तेल बहुत अच्छा होता हैं जाड़ों के दिनों में इसके तेल कि मालिश बहुत अच्छी रहती हैं। आयुर्वेद के अनुसार तिल के तेल से प्रतिदिन मालिश करने से बुढ़ापा, थकावट दूर होती हैं द्रष्टि बढती हैं, प्रसन्नता, पुष्टता और आयु, निद्रा में वृद्धि होती हैं यह त्वचा की सुन्दरता बढ़ाने तथा रूखापन दूर करने में उपयोगी हैं। सर्दी के दिनों में इसका नित्य उपयोग तिल्कूटा, चटनी, लड्डू, तिलपट्टी गजक के रूप में किया जाता हैं।

तिल के कुछ घरेलू उपयोग इस प्रकार हैं।

  • तिल में कई तरह के पोषक तत्वर पाये जाते हैं जैसे, प्रोटीन, कैल्शियम, बी काम्ले णं क्सृ और कार्बोहाइट्रेड आदि।
  • तिल का तेल बहुत गुणकारी होता है। वैद्यक में तिल भारी, स्निग्ध, गरम, कफ-पित्त-कारक, बलवर्धक, केशों को हितकारी, स्तनों में दूध उत्पन्न करनेवाला, मलरोधक और वातनाशक माना जाता है।
  • दाँतों के लिए तिल बहुत लाभदायक हैं सुबह मंजन करने के बाद काले तिल बिना कुछ खायें-पिए चबा चबा कर खायें इससे दांत मजबूत होते हैं तथा दाँतों कि कुदरती चमक एवम स्वास्थ्य बरक़रार रहता हैं।
  • त्वचा सम्बन्धी विकारो में तिल के तेल की मालिश की जानी चाहिए इससे त्वचा की खुश्की दूर होकर यह रेशम सी चिकनी व कांतिपूर्ण बन जाती हैं।
  • बालों के सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए तिल का तेल अमृत हैं सिर पर नियमित तेल की मालिश करने से बालों का स्वस्थ विकास होता हैं एवम बालों का झड़ना, सफ़ेद होना गंजेपन की शिकायत दूर होती हैं।
  • सूखी ख़ासी होने पर 3/4 चम्मच तिल तथा इतनी ही मात्र में मिश्री मिलाकर एक गिलास पानी में उबालें आधी मात्र रह जानें पर पी लें।
  • पेट दर्द हो तो एक चमच काला तिल चबाकर पानी पी लें।
  • कमर और जोड़ो के दर्द में हींग और सौंठ डालकर गर्म किये हुए तिल के तेल से मालिश करने से आराम मिलता हैं।
  • खुनी बवासीर में खून बंद करने के लिए 10 ग्राम काले तिल को पानी के साथ पीस कर इसमें एक चम्मच मक्खन मिलाकर चाटें इसमें मिश्री भी मिला सकते हैं इसे सुबह शाम ले।
  • मोच आ जाने पर तिल की खल-पीसकर गर्म पानी में मिलाकर मोच पर बांधने से लाभ होता हैं।
  • कब्ज़ की शिकायत होने पर 50 ग्राम तिल भुनकर गुड मिलाकर खाने से कब्ज़ दूर हो जाता हैं।
  • जले हुए स्थान पर तिल पीसकर शुद्ध घी और कपूर मिलाकर लगायें, राहत मिलेगी।
  • तिल में मौजूद फॉलिक एसिड प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए बहुत अच्छा होता है। इससे उनके फीटस (गर्भ) की हेल्दी ग्रोथ में मदद मिलती है। सिर्फ तिल के बीज ही नहीं, बल्कि इसका तेल या इससे बनी चीज़ें भी प्रेग्नेंट महिलाओं को फायदा पहुंचाती हैं।
  • स्तनपान कराने वाली महिलाओं को तिल का सेवन करना चाहिए इससे दूध में बढ़ोतरी होती हैं।
  • अगर किसी को बिच्छू ने काट लिया हो तो तिल के पत्ते को पीसकर डंक वाले स्थान पर लगाने से जहर उतर जाता है।
  • रिसर्च से पता चला है कि तिल में एंटी कैंसर प्रॉपर्टी होती है, जिस वजह से लंग कैंसर, कोलोन कैंसर, ल्यूकेमिया, प्रोस्टेट कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर और पैन्याक्रिटिक कैंसर आदि से प्रोटेक्ट करता है। इतना ही नहीं, यह कैंसर होने के खतरे को भी कम करता है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट शरीर में न सिर्फ कैंसर सेल्स को बनने से रोकता है, बल्कि कैंसर बढ़ाने वाले केमिकल्स से भी बचाता है।

अन्य Inspirational & Motivational POST भी पढ़े

—–

Note: Friends, सावधानी बरतने के बावजूद यदि ऊपर दिए गए किसी भी वाक्य में आपको कोई त्रुटि मिले तो कृपया क्षमा करें और comments के माध्यम से अवगत कराएं।

निवेदन: कृपया comments के माध्यम से यह बताएं कि “सर्दी के मौसम का राजा हैं तिल” आपको कैसा लगा अगर आपको यह पसंद आए तो दोस्तों के साथ (Facebook, twitter, Google+) share जरुर करें।

Save

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

2 Comments

Leave A Reply