Hindi Lyrics O Sikander, ओ सिकंदर – कोरपोरेट (Corporate) 2006 | Kailash Kher

0

Lyrics in Hindi – O Sikander, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर – कोरपोरेट (Corporate) 2006 by Kailash Kher

दोस्तों, जिंदगी में खुशियां और गम आते-जाते हैं, खुशियां और गम दोनों अस्थायी होते हैं यह हमेशा ध्यान रखे। गम में कभी कभी हमें यह लगने लगता हैं संसार का सबसे ज्यादा दुखी मैं ही हूँ। भगवान मेरी तरफ कभी ध्यान क्यों नहीं देते? क्यों मेरी ही किस्मत में यह सब लिखा हैं? क्या मैं कभी खुश नहीं हो पाऊंगा? क्या मेरे हिस्से में कभी खुशिया और सुख नहीं आएगा? क्यों मेरे कोई भी काम सफल नहीं हो पा रहा हैं?

और कई बार लोग इसी उधेड़बन में इतने frustrated हो जाते हैं कि आत्महत्या तक गलत कदम उठा लेते हैं जबकि हमें उस ख़राब समय (जो कि हमें लगता हैं कि चल रहा हैं) में अपने आप को और अधिक मज़बूत बनाना चाहिए।

गाने हमेशा से ही मनोरंजन और खुशिया देते हुए आए हैं, जब आप दुखी या असहाय महसूस कर रहे हो। दोस्तों के पास बैठो बात करो और अकेले में गाने सुनो। मज़ा आएगा और अच्छा लगेगा। ऐसे ही गानों में से एक गाना हैं हो सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर कॉर्पोरेट (Corporate) 2006 | Kailash Kher जो कि निराशा से उभरने और “गलत समय भी चला जायेगा और आप एक दिन सफल हो जाओगे” का सन्देश देता हैं, आशा हैं आपको बहुत पसंद आएगा।

ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर – कोरपोरेट (Corporate) 2006
Hindi Lyrics – Ho sikandar, sikandar, o sikandar – Corporate 2006

Song: हो सिकंदर, सिकंदर, ओ सिकंदर
Music: Shamir Tandon
Lyrics: Sandeep Nath
Singer: Kailash Kher, Sapna Mukherjee
Film: कोरपोरेट (2006)
Performer:- Kailash Kher, Payal Rohatgi
Producer: Baliga Smitha
Director: Madhur Bhandarkar

(Hindi Lyrics of ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर – (कोरपोरेट 2006)..Inspirational Bollywood Hindi Song)

क्यो तरसता है तू बन्दे,
जल्द ही बदलेगा मंज़ररर…
क्यो तरसता है तू बन्दे,
जल्द ही बदलेगा मंज़र
झांक ले तू एक दफा बस
दिल से अपने, दिल के अन्दररर…
क्यो तरसता है तू बन्दे
जल्द ही बदलेगा मंज़र
झांक ले तू एक दफा बस
दिल से अपने, दिल के अन्दररर..
(तुझमे भी वो बात है, है
तेरी भी औकात है, है) -2
तू भी बन सकता है, सिकंदररर..
हो हो हो, तू भी बन सकता है, सिकंदररर..

(हो सिकंदर, सिकंदर, ओ सिकंदर
झांक ले -3 दिल के अन्दर) -2

ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर -3

आंख भला तेरी ग़म से क्यो नम होती है -2
पल मे हवाए पूरब से पश्छिम होती है
आंख भला तेरी ग़म से क्यो नाम होती है
पल मे हवाए पूरब से पश्छिम होती है
सावन मे फिर रूट बदलेगी -2
होगी हरी धरती बंजर -2

(हो सिकंदर, सिकंदर, ओ सिकंदर..
झांक ले -3 दिल के अन्दर) -2

कोशिश करने से मुश्किल आसान होती है -2
मिलने से क्या बोल तमन्ना कम होती है
कोशिश करने से मुश्किल आसान होती है
मिलने से क्या बोल तमन्ना कम होती है

हो, जो भी मिला वो, भी है, मुकद्दर -2
जो न मिला, वो भी है, मुकद्दर -2

(ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर
झांक ले -3 दिल के अन्दर) -2

क्यो तरसता है तू बन्दे
जल्द ही बदलेगा मंज़र
झांक ले, तू एक दफा बस
दिल से अपने, दिल के अन्दर

(तुझमे भी वो बात है, है
तेरी भी औकात है है) -2
तू भी बन सकता है, सिकंदर
हो हो हो, तू भी बन सकता है, सिकंदर

हो सिकंदर, सिकंदर, ओ सिकंदर
झांक ले -3 दिल के अन्दर
ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर
झांक ले -3 दिल के अन्दर

ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर -3

(English Lyrics of inspirational Bollywood Hindi Song “Kyon tarsata hain tu bande, jald hi badlega manjar O Sikandar – Corporate“)

(Kyon tarsata hain tu bande, jald hi badlega manjar -2
Jhank le tu ek dafa bas, dil se apne dil ke andar) -2

Tujhme bhi wo baat hain, teri bhi aukat hain, hain -2
Tu bhi ban sakta hain, sikandar
Ho Ho Ho, Tu bhi ban sakta hain, sikandar

Ho sikandar, sikandar, o sikandar
Jhank le, jhank le, jhank le dil ke andar
Ho sikandar, sikandar, o sikandar, (jhank le -3) dil ke andar

Ho sikandar, o sikandar, o sikandar -3

(Aankh bhala teri gham se kyon nam hoti hain -2
Pal me hawaye purab se paschhim hoti hain) -2
Sawan me phir rutt badlegi -2
Hogi hari dharti banjar -2

Ho sikandar, sikandar, o sikandar, (jhank le -3) dil ke andar -2

(Koshish karne se mushkil aasan hoti hain -2
Milne se kya bol tamanna kam hoti hain) -2
Ho, jo bhi mila, wo bhi hain, mukaddar
Jo naa mila, wo bhi hain, mukaddar -2

O sikandar, o sikandar, o sikandar (jhank le -3) dil ke andar
Jhank le -3 dil ke andar -2

Kyon tarsata hain tu bande, jald hi badlega manjar
Jhank le tu ek dafa bas, dil se apne dil ke andar

Tujhme bhi wo bat hain, teri bhi aukat hain, hain -2
Tu bhi ban sakta hain, sikandar
Ho Ho Ho, tu bhi ban sakta hain, sikandar

O sikandar, o sikandar, o sikandar (jhank le -3) dil ke andar -2

O sikandar, o sikandar, o sikandar -3

Listen Live Streaming Song: O Sikandar – Saavn.Com
MP3 Download: O Sikandar, O Sikandar – MP3 download
Video Download: Link Not Available
—————-

कुछ और, Motivational/Inspirational Bollywood Hindi Gaane Hindi mein पढ़े, सुने और गाएं

नोट: NO COPYRIGHT CONTENT ALL CREDIT GOES TO ORIGINAL DISTRIBUTOR OF THIS VIDEO.

निवेदन: कृपया comments के माध्यम से यह बताएं कि “ ओ सिकंदर, ओ सिकंदर, ओ सिकंदर ” song of ” कॉर्पोरेट ” movie – in Hindi और ये POST आपको कैसी लगी अगर आपको यह पसंद आए तो दोस्तों के साथ जरुर साझा / share जरुर करें 🙂

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

Leave A Reply