अनिद्रा (INSOMNIA) से बचाव in Hindi

0

causes-of-insomnia-and-how-to-get-rid-insomnia-in-hindiWhat Causes Insomnia? in Hindi

Treatment for Insomnia (Sleep Disorders) in Hindi

Early to bed, early to rise makes a man healthy wealthy and wise.
ये ऊपर वाली English कहावत तो आप सबने सुनी ही होगी लेकिन क्या मित्रों अगर नींद नहीं आये तो क्या करे?

दोस्तों आप में से भी बहुत सारे दोस्त होंगे, जिनको नींद नहीं आती या ठीक से सो नहीं पाते? नींद ना आना या लंबे समय तक ना सो पाने की समस्या को अनिद्रा कहते हैं,यह दुनिया भर की आम स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है, जो हर उम्र के पुरुषों और महिलाओं में हो सकती है।

ऐसा लगभग सभी के साथ होता हैं और वयस्कों के जीवन में तो यह सामान्य बात हैं सामान्य से मेरा मतलब यह नहीं हैं कि यह चिन्ता का विषय नहीं हैं बल्कि यह हैं की इस उम्र में काफी जिम्मेदारिया होती हैं और इन सभी में life इतनी busy हो जाती हैं की नींद आँखों से गायब हो जाती हैं।
और कई बार तो नींद की गोलिया लेकर भी सोना पड़ता हैं, दोस्तों चिंता तब और भी ज्यादा हो जाती हैं जब नींद बिना गोलियों के आती ही नहीं।
नींद लेना बहुत ही जरुरी हैं, अनिद्रा से बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं।

  • अनिद्रा से एकाग्रता भंग होती हैं।
  • थकान और सरदर्द व अन्य बीमारियों का सामना करना पड़ सकता हैं।
  • वाहन चलाते समय दुर्घटना हो सकती हैं या कार्य करते समय गलती हो सकती हैं।
  • काम में मन नहीं लगता, stress feel होता हैं।

में ज्यादा कुछ नहीं बल्कि केवल 6 नियम बता रहा हूँ जिससे की नींद की समस्या से काफी हद तक छुटकारा पाया जा सकता हैं।

1. नियमित दिनचर्या का पालन करें।
सही समय पर सोने और जागने की आदत डाली जाएं तो आपके शरीर की लय संतुलित रहती हैं, और सोने के घंटे भी निर्धारित बने रहते हैं। प्रतिदिन निश्चित समय पर सोने के लिए बिस्तर पर जाकर और निश्चित समय पर जागकर आप शरीर को प्रशिक्षित करते हैं कि उसे किस समय सोना चाहिए।

2. शयनकक्ष का माहौल अनुकूल बनाएं।
जानकारों का मानना हैं कि शयनकक्ष का इस्तेमाल सिर्फ सोने के लिए और जीवनसाथी के साथ प्यार करने के लिए होना चाहिए। बिस्तर पर लेटकर किताब पढने या टीवी देखने से आपका शरीर नींद के लिए प्रेरित नहीं होता और आपको अनिद्रा की स्थिति का सामना करना पड़ता हैं, जरुरी हैं की गहरी नींद में सोने के लिए शयनकक्ष का माहौल अनुकूल बनाया जाएँ।

3. आहार का ध्यान रखें।
सोने से पहले गरिष्ठ भोजन करने से अनिद्रा की शिकायत हो सकती हैं, सोने के समय से तीन घंटे पहले भोजन करने से आपको सकती हैं, चूँकि आपके शरीर को सोने से पहले कलोरी को खर्च करना पड़ेगा इसके आलावा रात में मसालेदार आहार का सेवन करने से बचे, चुकि ऐसे आहार की वजह से पेट में जलन की शिकायत हो सकती हैं और नींद आने में दिक्कत हो सकती हैं, सोने से पहले चाय या काफ़ी पीने से बचे इन पेय पदार्थो की वजह से भी अनिंद्रा की स्थति पैदा हो सकती हैं कुछ लोगो को शराब पीने के बाद अनिंद्रा की समस्या का सामना करना पड़ सकता हैं।

4. कमरे को आरामदेह बनाएं।
शयनकक्ष में और उसके आस-पास ढेर सारी बत्तियां होने से भी नींद आने में अड़चन आ सकती हैं अपने कमरे को आरामदेह बनाने का प्रयास करें, कमरे में दीवारों पर ऐसे रंगों का प्रयोग हो जिन्हें देखकर सुकून मिलता हों अगर आप Air Conditioner का प्रयोग करते हैं तो हमेशा उसका संतुलित इस्तेमाल करें। अधिक ठंडा या अधिक गर्म होने पर भी नींद आने में रुकावट आ सकती हैं।

5. लेटे रहना ठीक नहीं।
अगर बिस्तर पर जाने के बाद भी आपको नींद आ रही हैं तो यूँ ही लेटे रहना ठीक नहीं लेटे रहने की जगह आपको कुछ न कुछ करना चाहिए। शयनकक्ष की जगह किसी दुसरे कमरे में जाकर तब तक किताबे पढ़े या टीवी देखें जब तक आप नींद की आहट न महसूस करने लगे। बिस्तर पर लेटकर एक टक घड़ी की तरफ देखते रहने से नींद आँखों से दूर जा सकती हैं लेकिन जब आप किताब पढ़ते हैं या टीवी देखते हैं तो जल्दी ही नींद आ जाती हैं।।

6. पानी की मात्रा घटायें।
कई लोगों की नींद बीच-बीच में टूट जाती हैं और पेशाब करने के लिए लिए उन्हें bathroom की दौड़ लगानी पड़ती हैं ऐसे लोगो को अक्सर नींद टूट जाने के बाद दोबारा नींद नहीं आती और उन्हें परेशान होने पड़ता हैं इस समस्या से बचने के लिए बेहतर होगा की रात को खाना खाने के बाद कम मात्रा में पानी पिएं ऐसा करने पर आपको बीच-बीच में बिस्तर से उठकर bathroom की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी।

इन सभी उपायों को आज़माने के बाद भी अगर आपकी अनिद्रा की शिकायत दूर नहीं होती तो फिर आपको doctor के पास जाना चाहिए वैसे अधिकतर लोगों के लिए अनिद्रा को शिकायत अस्थायी होती हैं, केवल कुछ उपायों पर अमल करने की जरुरत होती हैं अगर किसी को नींद को गोली खाने की आदत हैं। तो इस आदत को छोड़कर भी थोड़े प्रयास से स्वाभाविक नींद का आनंद उठाया जा सकता हैं।

अन्य  Fitness, Healthcare & Nutrition और Health Tips से related POST भी पढ़े

Save

Save

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

Leave A Reply