आत्मविश्वास बढाएं – दिमाग को पूरी तरह से आज़ाद करने के उपाय

12

Follow some steps to keep your mind cool and sharp if you feel yourself lost and totally confused (in Hindi)

दिमाग को पूरी तरह से आज़ाद करने के कुछ सरल और आसान उपाय

दिमाग, हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग हैं, जोकि हमारें पुरे शरीर पर नियंत्रण रखता हैं, कई बार ऐसा फंस जाता हैं कि हम लोग इतने गलत निर्णय ले लेते हैं, कि हम को खुद को यकीं नहीं होता कि ये हमारा फैसला था। ये तो हम सब जानते ही हैं कि अच्छे दिमाग वाला व्यक्ति अच्छा बोल सकता है , अपनी बातों से दूसरों को प्रभावित कर सकता है , नींद और तनाव को झेल सकता है , गुस्सा कम आता है , नौकरी में अच्छा करके अव्वल रह सकता है , पढाई और ज्ञान ज्यादा पा सकता है। इसलिए दिमाग को Cool रखना बेहद जरुरी हैं।

कई बार हम लोग खुद को कहीं फसा हुआ (lost and confused) महसुस करते हैं, यहाँ तक विचार और सोच भी एक जगह फंस कर रह जाती हैं। ऐसे में खुद को आज़ाद करने के लिए (mind को cool रखने के लिए) कुछ बातों का ध्यान रखिए।

  • खुद को  किसी ऐसी जगह या ऐसे वातावरण में ले जाएँ, जहाँ प्रेरणा मिलती हो जैसे घर में अजीब महसूस हो रहा हो तो park, library या म्यूजियम में जाएँ।
  • सबसे पहले खुद को प्यार करना शुरू कीजियें, जिन्दगी का आधे से ज्यादा बोझ यूँ ही उतर जायेगा।
  • खुद से वादा करें कि आज के बाद से कम से कम कार्यों में खुद को उलझा कर रखेंगे।
  • बहुत बार हम ख़ुद को गैरजरुरी या छोटी बातों में फंसा कर रह जातें हैं ऐसा लगे, तो अपने दिमाग केवल सबसे जरुरी बातों में लगाए रखियें।
  • हताश या परेशान होने की जरुरत नहीं हैं दुनियां में जो कुछ हो रहा हैं उसमें विश्वाश रखियें और सबसे जरुरी हैं  कि धर्य बनाएं रखें।
  • अपनी ताकतों को पह्चानियें उन्हें समझिए और लगातार आगें बढ़ने कि कोशिश करते रहियें।
  • आप जो चाहते हैं , उसे ठीक तरीके से समझियें और हासिल करने में जुट जाईयें।
  • दिमाग को recharge करने के लिए natural चीजो की तरफ बढियें, पर्यावरण से भी सीखने, सिखाने को बहुत कुछ मिलता हैं।
  • बहुत बार हम दूसरों से मदद मांगने में हिचकिचाने लगते हैं या मदद मांगने को जरुरी नहीं समझते हैं, जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए जब लगे तब ही मदद मागिएं।
  • चिंता करना छोड़ दीजियें और अपना ध्यान दूसरी बातों की ओर केन्द्रित करियें।
  • आप जानते हैं कि आप में बेशुमार काबिलियत हैं ताकत की भी कोई कमी नहीं हैं इसलिए अपनी frequency की इज्जत कीजिए।
  • हर दिन को नयी शुरुआत समझियें जब भी उठे तो खुद को दोबारा से शुरू करने के लिए तैयार करें।
  • कुछ ऐसे कार्य करियें या ऐसी बातों के बारें में सोचिएं जिनके कारण लोग आपकों याद करेंगे, चिंता करना और किसी चीज के बारें में सोचना, दोनों अलग चीजे हैं इनके फर्क को समझियें।
  • अपना पूरा ध्यान आज पर रखियें और किसी के बारें में कुछ करने से पहले खुद के बारें में सोचिएं।
  • छोटे-छोटे पलो पर ध्यान देने से ही आएगा बदलाव, इसलिए छोटे छोटे पलों को पूरा एन्जॉय कीजिए।
  • पानी , नारियल पानी , सौंफ , गोला का सेवन शरीर को active रखने में मदद करता है , भारी खाने से बचे जिससे सुस्ती या नींद न आए।
  • योगा और मेडिटेशन से brain को पर्याप्त ऑक्सीजन और खून मिलता है, जिसका सीधा असर memory पर पड़ता है और आपकी याददाश्त तेज होती है।
  • दिमाग हर वक्त active रहता है। इसे तभी आराम मिलता है, जब आप सोते हैं। अपने दिमाग को आराम देने और नई ऊर्जा के लिए आपको एक दिन में 7-9 घंटे की गहरी नींद लेनी चाहिए। इससे आपका दिमाग ज्यादा कुशलतापुर्वक काम कर पाएगा।

निवेदन: कृपया comments के माध्यम से यह बताएं कि यह पोस्ट Keep your mind fresh and cool (दिमाग को पूरी तरह से आज़ाद करने के कुछ उपाय) आपको कैसा लगी अगर आपको यह पसंद आए तो दोस्तों के साथ (facebook, twitter, Google+) share साझा जरुर करें।

अन्य प्रेरणादायी विचारो वाली POST भी पढ़े।

Save

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

12 Comments

  1. दिमाग को तनाव और उलझनों से बाहर निकालनें के बहुत ही अच्‍छे उपाय बताए हैं आपने।

  2. bahot hi badhiya post hai.jab asi post padhata hu to andar ek alag si energy mahasus hoti hai. jivan jine ka nayaa tarika milta hai.in tariko ko me jarur apani jindagi me try karunga.vese mera bhi ek site hai.agar aap ko time mile to meri post ko bhi padhie ga. thank you

Leave A Reply