Work with Happiness in Hindi काम के साथ खुश रहने के Tips

2

Tips To Live Happy With Work & Office in Hindi

ज्यादातर लोग नौकरी में बने रहने, पैसा कमाने और career में आगे बढ़ने के लिए पैसा कमाते हैं। वे लोग जो कुछ भी करते हैं, वो इसलिए करते हैं कि उनको ख़ुशी मिल सके। लेकिन यहाँ पर new age force निराश दिखाई देती हैं। काम (work load) के साथ ख़ुशी चुनिए। काम के लम्बे घंटे, अच्छा वेतन, उन्नति के तमाम अवसर लेकिन ख़ुशी को महसूस करने के लिए उनको लम्बा संघर्ष करना पड़ रहा हैं। गौर करे तो, ऐसे कई सामान्य व्यवहार हैं जो आपको आपके Workplace पर खुश रहने में मददगार हो सकते हैं।

सलाह और सहयोग मांगे।
Super Hero केवल कॉमिक बुक्स में ही नज़र आते हैं कोई भी व्यक्ति perfect नहीं होता। असल जीवन में लोगो की एक दुसरे पर निर्भरता हैं। इसलिए जब जरुरत हो, सह-कर्मियों(colleagues) से सलाह और सहयोग मांगे। उनसे feedback मांगे, जिससे आपका काम और बेहतर हो सके। अपनी गलतियों को स्वीकार करें और दूसरों की गलतियों पर उनको माफ़ करना सीखे, आपका यह बर्ताव आपको झूठे अहंकार से बचा कर रखेगा।

समस्याओ को सराहिये।
मुश्किल वक्त से आप भाग नहीं सकते। गौर करें तो ये आपको समझदार, विन्रम और जिंदादिल बनाए रखती हैं समस्यों की सराहना कीजिये, ऐसा करने से आप उनसे अच्छी तरह से मुकाबला कर पायेंगे। सकारात्मक रहे, आत्मनिरीक्षण करे। अपने जीवन के उन सब क्षेत्रो की ओर देखिये, जहाँ आप ख़ुशी महसूस नहीं कर रहे हैं। वास्तविक(realistic) रहते हुए उन सब की list बनाए और problems (समस्याओं) का समाधान करे।

24 घन्टे चैंपियन।
किसी बात को लेकर आप खुश हो सकते हैं या दुखी। दोनों से स्थितिओं में मेहनत तो बराबर होगी तो बुद्दिमानी के साथ चुनाव कीजिये, ख़ुशी चुनिए। एक 24 घंटे champion की तरह अपने आप से बातें कीजियें और एक प्रतिशत नकारात्मक पर भी न फिसले। Workplace में तरह-तरह के लोगो और निरंतर बढती जटिलताओं के बीच जीवन को सही रखने का तरीका दूसरों की कमजोरियों पर काम करना नहीं, बल्कि अपने भीतर की ताकत को महसूस करना हैं। ऐसे में अपने काम और परिणामो पर focus करने लेकिन याद रखे की सभी लक्ष्यों का एक लक्ष्य, आपकी ख़ुशी ही हैं।

ईमानदारी से समझोता नहीं।
लोभ सभी नाकामियों की जननी हैं। सफल लोग भी कभी-कभी भौतिक लाभ के लिए बेईमान हो जाते हैं और जब तक अपने गलत कामों के लिए पकडे नहीं जातें, डरते रहते हैं। वही गलती सामने आने के बाद पूरी जिंदगी शर्मसार होकर रहते हैं, इसलिए सफल हो लेकिन इमानदारी के साथ।

सोचने के लिए समय तय करें।
ज्यादातर लोग सिर्फ काम करते हैं वे काम को plan नहीं करते, क्योकि इस बारें में विचार करने के लिए उनके पास समय नहीं होता। LinkedIn के CEO जेफ्फ विनर अपने schedule में से 30 से 90 मिनट्स सिर्फ चिंतन के लिए रखते हैं। इस दौरान वह कोई काम नहीं करते और सिर्फ आत्मवलोकन करते हैं। इससे वह तय कर पाते हैं कि वह लक्ष्य प्राप्ति की दिशा में काम कर भी पा रहे हैं या नहीं, इस तरह वह खुद में सुधर कर पाते हैं।

बेहतरीन चीजो से सीखे।
सफल लोग कभी भी किसी एक चीज से चिपके हुए नहीं रहते हैं। वे हमेशा बेहतरीन चीजो और आदतों को अपने जीवन में उतारते रहते हैं, उनके काम पर बेहतरीन लोगो की छाप होती हैं। वे किसी न किसी बड़े व्यक्ति से प्रेरित नज़र आते हैं, आपको सफल लोगो के तौर तरीकों का पता करना चाहिए और अच्छी आदतें अपनानी चाहिए।

ऐसे ही और प्रेरणादायी POST पढ़े और दोस्तों के साथ शेयर करें

—————–
Note: Friends, सावधानी बरतने के बावजूद यदि ऊपर दिए गए किसी भी वाक्य या तथ्य में आपको कोई त्रुटि मिले तो कृपया क्षमा करें और comments के माध्यम से अवगत कराएं।

निवेदन: कृपया comments के माध्यम से यह बताएं कि “काम के साथ workplace में खुश रहने के Tips” आपको कैसा लगा अगर आपको यह पसंद आए तो दोस्तों के साथ (facebook, twitter, Google+) share जरुर करें।

About Author

Mahesh Yadav is a software developer by profession and like to posts motivational and inspirational Hindi Posts, before that he had completed BE and MBA in Operations Research. He have vast experience in software programming & development.

नयी पोस्ट ईमेल द्वारा प्राप्त करने के लिए Sign Up करें।
Follow us on:
facebook twitter gplus pinterest rss

2 Comments

Leave A Reply